संसू, बहरागोड़ा : रविवार को पूर्वी सिंहभूम जिला अंतर्गच बहरागोड़ा के समीप एनएच-49 पर माटिहाना गुरुद्वारा के समीप सड़क हादसे में सीएसआरएल इंडिया लिमिटेड (कैस्ट्रॉल) कंपनी के अधिकारी 37 वर्षीय अर्णव कोनार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पत्नी पार्वती घोष व पांच वर्षीय पुत्र कुर्जू को हल्की चोट आई। सभी कोलकाता से जमशेदपुर के कदमा में रहने वाले रिश्तेदार के घर आयोजित एक समारोह में शामिल होने को जा रहे थे। दुर्घटना के बाद मशक्कत के बाद लोगों ने कार में फंसी पार्षती और उसके बच्चे को बाहर निकाला। बहरागोड़ा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में दाखिल कराया गया, जहां से दोनों को बेहतर इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल रेफर कर दिया गया। मगर अस्पताल पहुंचने के पहले ही पार्षती ने दम तोड़ दिया। उसके पुत्र को टीएमएच में दाखिल कराया गया है। दंपती पश्चिम बंगाल के कोलकाता के बेहाला के निवासी थे। दुर्घटना के बाद कार चालक और खलासी वाहन छोड़ भाग निकले। सूचना पर कई रिश्तेदार बहरागोड़ा और एमजीएम अस्पताल पहुंचे। कार से अर्नव अपनी पत्नी और पुत्र के साथ जमशेदपुर के सोनारी कागलनगर रोड नंबर छह निवासी अपने साला सुमन घोष की जन्मदिन पार्टी में शामिल होने को कोलकाता से रविवार सुबह निकले थे। पार्टी जमशेदपुर के बिष्टुपुर थाना क्षेत्र यूनाइटेंड क्लब में आयोजित था। बहरागोड़ा माटिहाना के पास ट्रक ने कार में टक्कर मार दी। दुर्घटना के बाद अर्णव कोनार कार के अंदर पार्षती घोष जलपाईगुड़ी कॉलेज में पढ़ाती थी। अर्णव सीएसआरएल इंडिया कंपनी (कैस्टॉल) में पदाधिकारी थे। घटना से खुशी का माहौल मातम में बदल गया है। एमजीएम अस्पताल पहुंचे सुमन घोष और अन्य रिश्तेदारों का रो रोकर बुरा हाल था। मामले में बताया जा रहा है कि बेटा कार के पीछे वाली सीट पर था। पति-पत्नी दोनों आगे बैठे हुए थे। कार अर्नव ही चला रहा था। पीछे बैठे होने के कारण बेटे को हल्की चोट आई है। वह खतरे से बाहर है। उसे नहीं पता कि माता-पिता दुनिया में नहीं रहे। ओडिशा से कोलकाता की ओर गलत दिशा में जा रही थी ट्रक : राष्ट्रीय उच्च पथ 18 व 49 का निर्माण करने वाले दिलीप बिल्डकॉन कंपनी के अधिकारियों की लापरवाही तथा गलत निर्णय पर ट्रक को गलत दिशा में कोलकाता की ओर जाना पड़ रहा है। आपको यह बता दें कि ओडिशा से जो भी वाहन कोलकाता जाती है वह ओवर ब्रिज के नीचे बाइपास सड़क पर जाकर बाला एंड संस के सामने बाईपास से मुख्य सड़क पर गलत दिशा में उठकर ही कोलकाता के मुख्य सड़क को पकड़ते हैं जो कि पूरा पूरी गलत दिशा है यह ट्रक भी उड़ीसा से आकर दिलीप बिल्डकॉन कंपनी के द्वारा जहां पर बाईपास से मुख्य सड़क पर कटिग करके जोड़ने का मुख्य सड़क में उठने का रास्ता बनाया गया है उसी जगह पर इस ट्रक ने उठा था तथा गलत दिशा में वह माटिहाना ओवर ब्रिज पार कर रहा था इसी बीच सही दिशा में आ रही कार को माटिहाना गुरुद्वारा के सामने कार को चपेट में ले लिया तथा घसीटते हुए उसे फेंक दिया। इसकी सारी जवाबदेही एनएचएआइ एवं दिलीप बिल्डकॉन कंपनी को जाती है। घटना की सूचना कंपनी के अधिकारियों को दे दी गई है, साथ ही कंपनी के लोग तथा उनके घर के लोग भी अस्पताल में पहुंच रहे हैं।

Edited By: Jagran