जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। माल ढुलाई करनेवाले ट्रक-ट्रेलर जो तीन दिन पहले तक नियमित चलते थे उन्‍हें टाटा स्‍टील ने दस साल पुराना वाहन होने की बात कह ढुलाई से इंकार कर दिया। वह भी तक जब केंद्र सरकार की ओर से 15 साल पुराने वाहनों के परिचालन की अनुमति है। कंपनी की ओर से बाहरी वेंडरों के वाहनों को काम दिया जा रहा है।

लोकल ट्रेलर ऑनर एसोसिएशन ने समस्‍या का समाधान नहीं होने पर बाहरी वेंडरों के वाहनों को रोकने के लिए उनके वाहनों के टायर का हवा निकालने की चेतावनी दी है। बुधवार को जमशेदपुर लोकल ट्रैलर आँनर यूनियन के संरक्षक डाँ पवन पाण्डेय के नेतृत्व में जिला परिवहन पदाधिकारी से मिलने पहुंचे प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि जिला मे नई ट्रैफिक नियमों के तहत का सख्ती से पालन ट्रैफिक किया जा रहा है। इससे आम जनता को बहुत ज्यादा परेशानी हो रही हैं। वहीं दूसरी ओर टाटा स्टील के 12  वेंडर जमशेदपुर के लोकल ट्रैलर मालिकों को बेरोजगार करने में लगे हुए हैं। इसका ताजा उदाहरण है कि तीन दिन पहले तक चलने वाली ट्रैलरो को 10 साल से उपर बताकर ढुलाई देने से मना कर दिया गया है। जबकि केन्द्र सरकार 15 साल तक व्यवसायिक ट्रैलरो के परिचालन की अनुमति देती है। उसका पालन टाटा स्टील से लंबी दूरी तक जाने वाली ट्रैलरो के साथ किया जा रहा है। छोटी दूरी की ट्रैलरो पर उल्टा नियम लगा दिया है है उनके लिए 10 साल के भीतर की बाध्यता कर दी गई है। यदि जिला परिवहन विभाग ने समस्याओं का समाधान नहीं कराया तो यूनियन गुरिल्‍ला आंदोलन शुरू कर देगी।

लोकल मालिकों के ट्रेलर नहीं चलेंगे तो किसी भी बाहरी वेंडरों के ट्रेलरो को भी नहीं चलने दिया जायेगा। जगह-जगह उनके टायरों की हवा निकाल दी जाएगी। इस अवसर पर मनोज सिंह, तरणदीप सिंह, महमूद खान, अरविंदर सिंह, रविंदर सिंह, मनिष जग्गी, सुमित गाँधी, नरेश कुमार, बलविंदर सिंह, आर.के.पाठक, रंजन सिंह, शशि कुमार राय मुख्य रूप से उपस्थित थे।

जमशेदपुर लोकल ट्रेलर ऑनर यूनियन के संरक्षक डॉ पवन पांडेय ने बताया कि बृहस्पतिवार को संध्या 6 बजे से साकची शहीद गोलचक्कर से साकची मुख्य गोलचक्कर तक जमशेदपुर लोकल ट्रैलर आँनर यूनियन के तत्वावधान में लोकल ट्रैलर आँनर एक मशाल जुलूस कंपनी वेंडरों के शोषण के खिलाफ निकालेंगे। 

Posted By: Vikas Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप