जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। अफगानिस्‍तान से प्‍याज की खेप जमशेदपुर पहुंच गई है। मंडी से इसे 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचा जाएगा। मानगो बस स्‍टैंड के समीप सड़क चौड़ीकरण का विरोध बस मालिकों ने किया है। एलजीबीटीक्‍यू की सुविधा देनेवाली देश की पहली कंपनी टाटा स्‍टील बन गई है। 12 दिसंबर को होनेवाले तीसरे चरण के चुनाव के लिए ईचागढ़ विधानसभा सीट का चुनाव प्रचार थम गया है। 

अफगानिस्‍तान से आया प्‍याज, बिकेगा 60 रुपये प्रतिकिलो 

आसमान छूती प्‍याज की कीमतों के बीच लंबे समय बाद जमशेदपुरवासियों के लिए राहत भरी खबर है। अफगानिस्‍तान से प्‍याज मंगाकर राहत देने की कोशिश शुरू हुई है। परसुडीह बाजार मंडी में यह प्‍याज मंगाया गया है जो मंडी में 60 रुपये प्रतिकिलो के हिसाब से बेचा जाएगा। यानि यह प्‍याज आम लोगों को 65 से 70 रुपये प्रतिकिलो मिल सकेगा। अफगानिस्‍तान से प्‍याज की पहली खेप मंगलवार को परसुडीह मंडी समिति में पहुंच गई। इसे पंजाब के रास्‍ते जमशेदपुर लाया जा रहा है। दरअसल, इसे पंजाब के व्‍यापारी सीधे अफगानिस्‍तान से मंगा रहे हैं। पंजाब के व्‍यापारी से परसुडीह के व्‍यापारी खरीद रहे हैं। पहले खेप में एक टन प्‍याज परसुडीह मंडी पहुंचा है।

बस पड़ाव के समीप सड़क चौड़ीकरण पर लगे 

जेपी सेतु के समीप मानगो बस पड़ाव से सटकर सड़क चौड़ीकरण का विरोध बस ऑनर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने किया है। उपायुक्‍त को सौंपे गए ज्ञापन में एसोसिएशन की ओर से कहा गया है कि जुस्‍को द्वारा सुवर्णरेखा श्‍मशान घाट  से जेपी सेतु तक सड़क चौड़ीकरण का काम किया जा रहा है। जुस्‍को द्वारा बस पड़ाव की चारदीवारी से करीब बीस से पच्‍चीस फीट अंदर तक का स्‍थल चिहि़नत किया गया है। इस बस पड़ाव के अंदर लंबी दूरी व कम दूरी की 400 से लेकर 600 बसों का परिचालन बिहार, ओडिशा, बंगाल और झारखंड के विभिन्‍न शहरों के लिए होता है। बस पड़ाव के अंदर सड़क विस्‍तारीकरण पर अविलंब रोक लगाने की मांग की गई है।

टाटा स्टील एलजीबीटीक्यू को सुविधा देने वाली देश की पहली कंपनी बनी

टाटा स्टील ने एक नई व बड़ी पहल की है। एलजीबीटीक्यू (लेस्बियन, गे, बाइ सेक्सुअल, ट्रांसजेंडर व क्वेर) को सुविधा देने वाली देश की पहली कंपनी बनने का रिकार्ड भी टाटा स्टील के नाम दर्ज हो गया है। अब कंपनी में एलजीबीटीक्यू श्रेणी का कोई कर्मचारी अपनी ही तरह के किसी इंसान के साथ किसी परंपरागत शादीशुदा जोड़े की तरह रहना चाहता है या रहता है तो कंपनी उसके पार्टनर को वे सारी सुविधाएं देगी जो किसी सामान्य कर्मचारी के तौर पर पति या पत्नी को देती है। शर्त सिर्फ इतना है कि एलजीबीटीक्यू श्रेणी के कर्मचारी को इस बारे में कंपनी को जानकारी देनी होगी। कंपनी ने अपने सभी लोकेशन पर इस नई पॉलिसी को तत्काल प्रभावी कर दिया है।

ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र में थमा चुनाव प्रचार का शोर 

विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 12 दिसंबर को होने वाले मतदान के लिए मंगलवार को चुनाव प्रचार का शोर थम गया । कोल्हान प्रमंडल के ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र में तीसरे चरण के चुनाव में मतदान होना है। यहां कोल्हान के सभी 14 विधानसभा क्षेत्रों में से सबसे अधिक 31 उम्मीदवार चुनाव मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं। इनमें एक महिला उम्मीदवार भी शामिल हैं। प्रमंडल के अन्य 13 निर्वाचन क्षेत्र में मतदान संपन्न होने के बाद ईचागढ़ क्षेत्र में प्रचार-प्रसार बुलंदी पर है। यहां हर उम्मीदवार मतदाताओं का समर्थन पाने के लिए जुगत भिड़ा रहे हैं। कोई खुद अपने तो कोई स्टार प्रचारकों के भरोसे चुनावी वैतरणी पार करने की कोशिश कर रहा है। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस