जमशेदपुर, जागरण संवाददाता।  टिनप्लेट इंडिया लिमिटेड कंपनी परिसर में एक कर्मचारी और एक कमेटी मेंबर सड़क छाप गुंडों की तरह भिड़ गए, जिसे देखने के लिए मजमा लग गया। गाली-गलौज के बीच दोनों न केवल एक-दूसरे को मुक्के से मारने लगे, बल्कि पटका-पटकी भी होने लगी। कर्मचारी की नाक से जब खून बहने लगा, तो सहकर्मी घबरा गए। उसे आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया। तब जाकर मामला शांत हुआ। डर के मारे कमेटी मेंबर भी अनफिट हो गया।

यह घटना गुरुवार रात करीब नौ बजे की है। इसकी शुरुआत एक छोटी सी बात से हुई। दरअसल कर्मचारी विश्वजीत पंडा बी शिफ्ट ड्यूटी के दौरान कैंटीन में बैठे थे। थोड़ी देर बाद रात करीब 8.30 बजे यूनियन के कमेटी मेंबर सतीश राव वहां पहुंच गए। राव ईपीपी डिपार्टमेंट के कर्मचारी हैं और एनएस ग्रेड के कर्मचारी विश्वजीत पंडा उनके अधीन काम करते हैं। राव ने बस इतना कहा कि इतनी देर से कैंटीन में क्यों बैठे हो, काम कौन करेगा। उस वक्त पंडा ने कुछ नहीं कहा और उठकर चल दिए, लेकिन थोड़ी देर बाद डिपार्टमेंट में वे कमेटी मेंबर से उलझ गए। कर्मचारियों के बीच-बचाव के बाद विवाद शांत हुआ।

जांच की उठी मांग

विश्वजीत को टिनप्लेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। सहकर्मी बताते हैं कि विश्वजीत पहले दूसरे डिपार्टमेंट में काम करता था। यहां हाल ही में उसका स्थानांतरण हुआ है। सतीश राव को भी चोट लगी है। इसी वजह से वे भी अनफिट में है। सूत्रों के मुताबिक कंपनी परिसर में हुई मारपीट की घटना को प्रबंधन ने गंभीरता से लिया है। मामले की जांच व संबंधित लोगों से पूछताछ की जा रही है। टिनप्लेट वर्कर्स यूनियन ने मामले में निष्पक्ष जांच करने की मांग की है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan