जमशेदपुर, जासं। Coronavirus  Jharkhand Update झारखंड में तीसरा कोरोना पॉजिटिव मिलने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है।  ऐसे में होम क्‍वारंटाइन का पालन नहीं करनेवाले लोगों को एहतियातन सरकारी क्‍वारंटाइन में रखा जा रहा है। करीब दो हजार लोगों को सरकारी क्‍वारंटाइन में रखा गया है। 

दरअसल, अमेरिका से लौटे हो या फिर दिल्ली से, महाराष्ट्र से या केरल से, उनके लिए होम क्वारंटाइन अतिआवश्यक है। लेकिन, ये नियम को ताक पर रखकर खुलेआम घूम रहे हैं। जिसके कारण प्रशासन को अब घर-घर से निकालकर उन्हें सरकारी क्वारंटाइन में भेजा जा रहा है। इन लोगों ने होम क्वारंटाइन के आदेश के बावजूद लोगों से मिलना जारी रखा और आम लोगों को मुसीबत में डाल दिया है। ऐसे मामलों को देखते हुए अब स्वास्थ्य विभाग के लोग भी कह रहे हैं कि ऐसे  संदिग्ध मरीजों को सरकारी क्वारंटाइन की जरूरत है। सरकार को इन्हें अपनी निगरानी में लेना चाहिए। फिलहाल दो हाजार लोगों को सरकारी क्वारंटाइन में रखा गया है जबकि 11 हजार लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। अब नियम की धजिज्यां उड़ाने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।
देश में कोरोना का संक्रमण लापरवाही से फैला
स्वास्थ्य विभाग के एक डॉक्टर ने कहा कि भारत में कोरोना का संक्रमण लापरवाही से फैला है। अगर बाहर से आनेवाले लोग अपने आप को 14 दिन तक आइसोलेट रखते यानी होम क्वारंटाइन करते तो यह स्थिति नहीं आती। पढ़े-लिखे लोग या जानबूझ कर ऐसा कर रहे हैं, या फिर इन्हें इस बात का अंदाजा नहीं है कि उनका कदम कितने खतरनाक हो सकते हैं। सिर्फ एक इंसान संक्रमित होने पर हजारों लोगों तक संक्रमण पहुंचा सकता है। लाकडाउन के बावजूद दिल्ली तब्लीगी मरकज में इतनी बड़ी जमात कैसे हुई, यह भी चिंता का विषय है। 
होम क्वारंटाइन का पालन नहीं करने से घर वाले को भी खतरा
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के एक पूर्व अध्यक्ष कहते हैं कि होम क्वारंटाइन का पालन सख्ती के साथ करने की जरूरत है। जिन लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है, अगर उनमें संक्रमण है तो सबसे पहले घरवालों को खतरा है। साथ खाना खाने, टीवी देखने, शौचालय इस्तेमाल करने से भी संक्रमण परिवार के लोगों तक पहुंचने का डर है। कई लोग होम क्वारंटाइन के नाम पर बाहर भी निकल रहे हैं। ऐसी स्थिति में संक्रमण फैलने का डर बना हुआ है।
कैसे करें खुद को होम क्वारंटाइन
अगर संक्रमण की आशंका है तो परिवार से दूरी बनाकर रहें। संभव हो तो अपने लिए ऐसा कमरा व बाथरूम तय कर लें, जिसका उपयोग सिर्फ आप करें। डब्ल्यूएचओ की सलाह है कि व्यस्क कम से कम 30 मिनट और बच्चे एक घंटे व्यायाम करें। घरों में मेहमानों को नहीं आने दें। अगर कोई मिलने आए भी तो उससे एक से दो मीटर की दूरी बनाए रखें। घर के अंदर भी ज्यादा न घूमें। डॉक्टर को दिखाने के अलावा घर से नहीं निकलें। अगर घर से ऑफिस या काम कर रहे हैं तो लगातार एक पॉजीशन में न बैठे रहें। हर तीस मिनट में तीन मिनट का ब्रेक लें। डब्ल्यूएचओ के अनुसार इम्यूनिटी बढ़ाने वाली चीजें खाएं। शराब और शुगर वाले ड्रिंक्स से बचें। स्मोकिंग न करें क्योंकि इससे कोविड-19 के लक्षण बढ़ सकते हैं और बीमारी गंभीर हो सकती है। 
 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस