संवाद सूत्र चाकुलिया : वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर व्याप्त आशंकाओं के बावजूद दुर्गोत्सव को लेकर लोगों में उत्साह का माहौल देखा जा रहा है। शहर की सभी पूजा कमेटियों ने दुर्गा पूजा की तैयारियां पूरी कर ली है। पूजा पंडाल सज-धज कर तैयार हैं। सोमवार को षष्ठी के दिन देवी प्रतिमा के पट भी भक्तों के लिए खोल दिए गए। इसके साथ ही मां दुर्गा की आराधना शुरू हो गई है। हालांकि इस दौरान सरकार द्वारा निर्देशित कोरोना गाइडलाइन के पालन पर भी पूजा कमेटी खासा जोर दे रही हैं। प्रशासन भी इसे लेकर पहले से ही सतर्क है। चाकुलिया की विभिन्न पूजा समितियों की बात करें तो सार्वजनिक दुर्गा पूजा कमेटी पुराना बाजार इस वर्ष अपनी 97वीं वर्षगांठ मना रही हैं। यहां पंडाल को खूबसूरत तरीके से सजाया गया है। गाइडलाइन को देखते हुए कोई आकर्षक विद्युतीय सजावट तो नहीं की गई है, लेकिन आस-पास के घरों में लगे छोटे-छोटे बल्ब दुर्गोत्सव की खूबसूरती को बढ़ा रहे हैं। बिरसा चौक एवं पूजा पंडाल के चारों तरफ स्थित घर रोशनी से जगमग कर रहे हैं। यहां पूजा के आयोजन में अध्यक्ष शंभूनाथ मल्लिक, सचिव अरिदम दे, उपाध्यक्ष पतित पावन दास, सह सचिव संजय दास, अप्पू डे, चंद्रमोहन बेरा, तपन राय, बापी मलिक, सुरेश सिंह आदि सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। नया बाजार एवं शिल्पी महल या कमेटी द्वारा भी सादगी पूर्ण तरीके से दुर्गा पूजा के आयोजन की तैयारियां पूरी कर ली गई है। उधर मानुषमुड़िया सार्वजनिक दुर्गा पूजा कमेटी की ओर से खूबसूरत पंडाल बनाकर देवी की आराधना की जा रही है। यहां पूजा कमेटी के चंडी चरण साधु, शशांक शेखर बारीक, मिहिर साधु, शीतल प्रसाद दास, कुबेर घटवारी, कार्तिकेश्वर दे, कृष्णा मंडल, प्रदीप घटवारी आदि सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। ईचड़ासोल दुर्गा पूजा पंडाल में नहीं होगा भोग वितरण : प्रखंड के ईचड़ासोल सार्वजनिक दुर्गा पूजा इस वर्ष 15 वर्ष पूरा हो रहा है यह पूजा को लेकर पंडाल निर्माण की अंतिम चरण में है। 5 फीट की प्रतिमा बनाई गई है। कोरोना गाइडलाइन को पालन कर ईचड़ासोल दुर्गा पूजा उद्यापन किया जाएगा पंडाल चारों तरफ से खुला रहेगा एक बार में 25 लोग ही कर पूजा अर्चना करा पाएंगे। दुर्गा पूजा कमेटी की ओर से हर वर्ष खिचड़ी प्रसाद का वितरण कूपन के माध्यम से किया जाता था इस वर्ष यह कोरोना को लेकर प्रसाद वितरण बंद रहेगी। शुल्क जमा कर हर वर्ष प्रतिदिन एक हजार लोग कूपन के माध्यम से प्रसाद ले जाते थे ।सप्तमी अष्टमी नवमी 3 दिन लगातार प्रसाद का वितरण किया था इस वर्ष कोरोना गाइडलाइन को देखते हुए प्रसाद वितरण कार्यक्रम को बंद रखा गया है। इस संबंध में इचड़ासोल सार्वजनिक दुर्गा पूजा कमेटी के अध्यक्ष मनोज कुमार गिरि ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन पालन करते हुए यहां दुर्गा पूजा उद्यापन की जाएगी। कुमारी पूजा का भी आयोजन किया गया है एक बालिका का कुमारी पूजा आयोजित होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर यहां भारी संख्या में सैकड़ों बालिकाओं की पूजा किए जाने की योजना थी बल्कि इसे रद्द कर दिया गया है। सिर्फ एक कन्या का कुमारी पूजन होगी। उन्होंने कहा पंडाल खुला बनाया गया है ताकि चारों ओर से लोग बाहर से भी प्रतिमा का दर्शन कर पाए।

Edited By: Jagran