जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। गोलमुरी थाना अंतर्गत गाढ़ाबासा स्थित बजरंगनगर में केबुल कंपनी की जमीन को अतिक्रमण मुक्त कर दिया गया। इस दौरान काफी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। हालांकि अतिक्रमण मुक्त करने के दौरान किसी तरह का विरोध प्रदर्शन नहीं किया गया।

जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति (जेएनएसी) की और से एक बल्डोजर के माध्यम से 5 घर सहित 11 अतिक्रमण को हटाया गया। 

सोमवार को सुबह 11 बजे जेएनएसी के अधिकारी दल बल के साथ अतिक्रमण वाली जगह पर पहुंचे। इस दौरान गोलमुरी थाना प्रभारी रणविजय शर्मा भी मौजूद रहे। दो घंटे में पुरे जगह को अतिक्रमण मुक्त कर दिया गया। 

अधिकारियों के जाने के बाद पीडि़त परिवार सामानों को समेटने में जूट गए। पीडि़त बजरंग सिंह ने बताया कि उनकी खटाल को तोड़ा गया है। बीते 20 सालों से वे वहां खटाल बना कर 5 मवेशियों को रख रहे थे। उन्होने सभी मवेशियों को भगा दिया। इसी मामले में जसवंत सिंह के कार पार्किंग को भी तोड़ा गया है। 

पुर्व में की जा चूकी है अतिक्रमण की शिकायत

इसकी शिकायत पुर्व में भी गोलमुरी थाना में की गई थी। जिसके बाद कार्रवाई कर जमीन को अतिक्रमण मुक्त किया गया। 

इनके टूटे घर 

सुमित्रा देवी, बजरंग सिंह, यशवंत सिंह, रमाशंकर यादव। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस