जागरण संवाददाता, जमशेदपुर । सीखना मानव जीवन के अस्तित्व का महत्वपूर्ण अंग है। जैसे मानव शरीर को जीवित रखने के लिए भोजन की आवश्यकता होती है उसी तरह हमारे दिमाग को पोषण के लिए सूचना और निरंतर सीखने की आवश्यकता होती है। आजीवन सीखना हर तरह के कैरियर व संस्थान के लिए आवश्यक होता है।

टाटा समूह के पूर्व चेयरमैन जहांगीर रतनजी दादाभाई टाटा यानि जेआरडी टाटा की 29 जुलाई को 117वीं जयंती है। उनकी जयंती को ही खास बनाने के लिए टाटा स्टील प्रबंधन की ओर से विजनरी वीक ऑफर की शुरुआत की जा रही है। जो हमेशा यह मानते थे कि उच्च शिक्षा और विज्ञान मनुष्य को आगे बढ़ने में सबसे ज्यादा मदद करता है। उन्होंने एक बार कहा था कि शिक्षा मनुष्य को गढ़ती है। वो जो है, जिस तरह से वह जीवन में खुद को चलाता है, उसकी रुचि, उसके सिद्धांत और उसका व्यक्तित्व सबकुछ उस प्राप्त शिक्षा पर ही निर्भर करता है। जेआरडी टाटा की जयंती के अवसर पर 29 जुलाई से टाटा स्टील की लर्निंग एंड डेवलपमेंट विभाग द्वारा विजनरी वीक ऑफर की शुरुआत की जा रही है जो एक अगस्त 2021 तक खुला रहेगा। टाटा स्टील के डिजी-शाला वेबसाइट या www.capabliltydevelopment.org पर जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

ई-लर्निंग पाठ्यक्रमों पर आकर्षक ऑफर

टाटा स्टील की ओर से ई-लर्निंग पाठ्यक्रमों पर आकर्षक ऑफर दिए जा रहे हैं। जिनका लाभ उठाया जा सकता है। जो किसी भी उद्योग में काम के माहौल को समझने और विशिष्ट कौशल विकसित करने में मदद करेगा। कोर्स के बाद सभी उम्मीदवारों को टाटा स्टील की ओर से ई-प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे।

विजनरी वीक क्विज का भी आयोजन

टाटा स्टील की ओर से डिजी-शाला अपने सभी इंटरनेट प्लेटफार्म पर विजनरी वीक क्विज का आयोजन कर रही है। प्रत्येक दिन क्विज के विजेता को आकर्षक उपहार व वाउचर दिए जाएंगे। फेसबुक, इंस्ट्राग्राम, लिंक्डइन पर टाटा स्टील डिजी-शाला पर इसे फोलो कर सकते हैं।

भविष्य के लिए युवाओं को करेंगे तैयार

टाटा स्टील की लर्निंग एंड डेवलपमेंट चीफ जया सिंह पांडा का कहना है कि जेआरडी टाटा दूरदर्शी व महान व्यक्तित्व वाले इंसान थे। ऐसे में हम उनकी जयंती पर टाटा स्टील डिजी-शाला विजनरी वीक की योजना बनाई है। इस पहल के तहत युवाओं को कुछ नया सीखने, कौशल विकास के माध्यम के उन्हें भविष्य के लिए इंडस्ट्री रेडी के तहत तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है।

Edited By: Rakesh Ranjan