जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन के बाद बूस्टर डोज देने का काम शुरू है। इसी कडी में टाटा स्टील की ओर से कदमा स्थित कुडी आडिटोरियम में गैर कर्मचारियों को भी वैक्सीन देने की व्यवस्था की गई है। इसके लिए तय राशि 780 रुपये देने होंगे। उक्त सुविधा का लाभ उठाने के लिए शहरवासियों (60 वर्ष से अधिक उम्र वाले गंभीर बीमारियों से ग्रस्त व्यक्ति) को गूगल प्ले स्टोर से टीएमएच विश्वास एप डाउनलोड करना होगा।

इसके बाद उन्हें एप के माध्यम से आनलाइन पेमेंट करना होगा, पेमेंट होने के बाद बुकिंग नंबर मिलेगा। इसके बाद वे अपने लिए बूस्टर डोज के लिए स्लाट बुक करा सकते हैं। बूस्टर डोज लेने के लिए आने पर उन्हें अपने साथ बुकिंग नंबर, आधार या पैन कार्ड, दूसरे डोज का सर्टिफिकेट और गंभीर रूप से बीमार होने का प्रमाण पत्र साथ लाना होगा।

आइएमए भवन में 100 से अधिक चिकित्सकों ने ली बूस्टर डोज

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) की ओर से बुधवार को साकची स्थित आइएमए भवन में टीकाकरण शिविर का आयोजन किया गया था। इस मौके पर 100 से अधिक चिकित्सकों को बूस्टर डोज दी गई। इसके साथ ही बाकी चिकित्सकों से अपील की गई कि जिनका समय पूरा हो गया है वे आकर बूस्टर डोज अवश्य लें। क्योंकि तीसरी लहर में चिकित्सक भी ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं। शहर में 200 से अधिक चिकित्सक फिलहाल संक्रमित हैं। ऐसे में इसमें किसी तरह की लापरवाही नहीं बरते। इस मौके पर आइएमए के अध्यक्ष डा. जीसी माझी, सचिव डा. सौरभ चौधरी, डा. केके सहगल सहित अन्य चिकित्सक उपस्थित थे।

रैफ 106 बटालियन के 300 जवानों को लगाया गया बूस्टर डोज

सुंदरनगर स्थित रैफ 106 बटालियन कैंप में कमांडेंट डा. निशीत कुमार तथा शैलेंद्र कुमार द्वितीय कमान अधिकारी एवं अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में वाहिनी अस्पताल में कोविड रोकथाम के लिए बूस्टर डोज शिविर का आयोजन किया गया। इस संबंध में जानकारी देते हुए कमांडेंट डा. निशीत कुमार ने बताया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जुगसलाई से आए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 300 कर्मियों को बूस्टर डोज की वैक्सीन दी। इस अवसर पर कमांडेंट डा. निशीत कुमार ने वैक्सीन के महत्व को बताया और कहा कि हर फ्रंट लाइन वर्कर को बूस्टर डोज लेना आवश्यक है। इसी के तहत उन्होंने रैफ के 300 कर्मियों को बूस्टर डोज लगवाया।

Edited By: Rakesh Ranjan