जमशेदपुर, जासं। फाइट अगेंस्ट कोविड अभियान के तहत टाटा समूह ने अपनी सभी कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे कोविड 19 के खिलाफ जरूरी संसाधन जुटाए। देश भर में आक्सीजन युक्त कोविड बेड वाले अस्पताल, लिक्विड मेडिकल आक्सीजन सहित जरूरी संसाधन जुटाए। इसके लिए कंपनी प्रबंधन को नो लिमिट का भी मंत्र दिया गया है ताकि तीसरे वेव से पहले देश भर में स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढ़ांचे को मजबूत किया जा सके।

इसी पहल के तहत टाटा स्टील अपने तीन ऑपरेशन लोकेशन में जंबो कोविड अस्पताल का निर्माण करा रही है। जंबो इसलिए कि एक-एक लोकेशन में बेड की क्षमता 500-500 होगी। टाटा स्टील प्रबंधन ने खुद अपने ट्वीटर एकाउंट में इसकी आधिकारिक जानकारी दी है। कंपनी प्रबंधन ने साथ ही तीनों लोकेशन में कोविड अस्पताल को दिए जा रहे अंतिम रूप की तस्वीरें भी साझा की है। टाटा स्टील द्वारा तैयार इन सभी अस्पतालों में आक्सीजन सहित सभी मूलभूत सुविधाएं भी होंगी। वेस्ट बोकारो में 80 बेड का नया कोविड केयर सेंटर

आपको बता दें कि टाटा स्टील जमशेदपुर के साकची में स्थित केरला समाजम मॉडल स्कूल की पुरानी बिल्डिंग को कोविड सेंटर बनाने की दिशा में पहल कर चुकी है। यहां 300 बेड का अस्पताल तैयार किया जाएगा और हर बेड में आक्सीजन की सुविधा होगी। इसके अलावा रामगढ़िया समाज में 38 बेड और कर्मचारी ट्रेनिंग सेंटर में 52 बेड का अस्पताल होगा। रामगढ़िया और कर्मचारी ट्रेनिंग सेंटर के बगल में ही एयर वाटर का आक्सीजन प्लांट हैं। ऐसे में टाटा स्टील की प्लानिंग है कि आक्सीजन प्लांट से सीधे पाइप लाइन की मदद से आक्सीजन बगल में बनाए जा रहे दो कोविड सेंटरों तक पहुंचाया जाए। इससे ट्रांसपोटेशन और समय, दोनों की बचत होगी। इसके अलावा टाटा स्टील ने सोमवार को ही रामगढ़ जिले के वेस्ट बोकारो में 80 बेड का नया कोविड केयर सेंटर का शुभारंभ किया है। जिसका उद्घाटन खुद झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने किया है।