जमशेदपुर, जासं।  टाटा मोटर्स अस्पताल का आकस्मिक विभाग रविवार को 24 घंटे खुला रहता है। यहां पर डॉक्टर चार पाली में मौजूद रहते हैं। पूरे एक दिन चार मेडिकल ऑफिसर के अलावा एक दर्जन से ज्यादा नर्सें मरीजों की सेवा में तत्पर रहती है।

यहां जनरल शिफ्ट के अलावा ए, बी व सी पाली में डॉक्टर मौजूद रहते हैं। उनके साथ नर्सें सेवारत रहती हैं। 24 घंटे में अगर कोई इमरजेंसी मरीज पहुंचता है तो विशेषज्ञ डॉक्टर को कॉल कर उन्हें बुलाने की व्यवस्था है ताकि मरीज का सही व बेहतर इलाज हो सके। 

आकस्मिक सेवा में ये चिकित्सक रहते हैं तैनात

इमरजेंसी सेवा में चार डॉक्टर तैनात रहते हैं। इन चारों चिकित्सक आपसी में सहमति के आधार पर अपनी-अपनी पाली में सेवा देते हैं। ये चार चिकित्सक हैं  डा. राजीव वर्मा, डा. प्रीतपाल सिंह, डा. अहमद और  डा. वसीम चौधरी। चार में अगर कोई अनुपस्थित रहा तो जनरल व ए पाली का डॉक्टर ही दोनों पाली में अपना योगदान देते हैं। आकस्मिक विभाग के प्रमुख् चिकित्सक पाली में सेवा देने वाले डॉक्टरों के नाम पर मुहर लगाते हैं। हालांकि इन चारों चिकित्सकों को रात व दिन में पालीवार काम करना होता है।

एक पाली में चार नर्सों की ड्यूटी

प्रमुख नर्स ड्यूटी चार्ट बनाती है। एक पाली में चार नर्सों को रहना है। सब कुछ देखते हुए प्रमुख नर्स ड्यूटी चार्ट तैयार करती है। किसी त्योहार व उत्सव के मौके पर ज्यादा संख्या में अनुपस्थित रहने वाले डॉक्टरों व नर्सों की व्यवस्था भी करना पड़ती है। ये सभी कार्य आकस्मिक सेवा के प्रमुख की देखरेख में होते हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021