जासं, जमशेदपुर। दुर्गा पूजा को देखते हुए टाटा ब्लूस्कोप प्रबंधन ने एकतरफा निर्णय लेते हुए 103 कर्मचारियों के बैंक खाते में 32.75 लाख रुपये (12.70 प्रतिशत) बोनस का पैसा भेज दिया है। कंपनी प्रबंधन ने ई-मेल भेजकर यूनियन नेतृत्व को इसकी जानकारी दे दी है। टाटा ब्लूस्कोप प्रबंधन और यूनियन के बीच बोनस के नए फार्मूले को जिच कायम है। हालांकि ई-मेल में प्रबंधन ने स्पष्ट किया है कि बोनस व नए फार्मूले पर वार्ता आगे भी जारी रहेगी।

टाटा ब्लूस्कोप में पिछले वर्ष कर्मचारियों को 33 लाख रुपये (13.58 प्रतिशत) बोनस मिला था। इसमें न्यूनतम 19,630 और अधिकतम 45,385 रुपये मिले थे। जबकि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार बोनस की राशि 25 हजार रुपये कम है। इस वर्ष कर्मचारियों का अधिकतम-न्यूनतम कितना होगा, इसकी गणना उन्हें अपने बेसिक के आधार पर खुद करना होगा।

छह पैरामीटर में बोनस पर जिच है कायम

कंपनी में बोनस का नया फार्मूला छह पैरामीटर में तैयार किया जा रहा है। इसमें उत्पादन, उत्पादकता, प्रोफिबिलिटी, मेटल कोटिंग लाइन (एमसीएल), कलर कोटिंग लाइन (सीसीएल) और सेफ्टी शामिल है। लेकिन प्रोफिबिलिटी में कितना पैसा कर्मचारियों को मिलेगा और कंपनी की उत्पादन क्षमता कैसे बढ़ेगी, इसे लेकर जिच कायम है।

कंपनी प्रबंधन ने पिछले बोनस फार्मूले के आधार पर बोनस की राशि सभी कर्मचारियों के बैंक खाते में भेज दी है। हालांकि बोनस व फार्मूले पर आगे भी वार्ता होती रहेगी।

-राकेश्वर पांडेय, अध्यक्ष, ब्लूस्कोप वर्कर्स यूनियन

 

Edited By: Rakesh Ranjan