संसू, बहरागोड़ा : मैट्रिक बोर्ड की परीक्षा में सरस्वती शिशु विद्या मंदिर की छात्रा सुष्मिता सीट 476 अंक लाकर जिले की द्वितीय टॉपर बनी हैं। उन्हें 95.20 प्रतिशत अंक मिले हैं। सुष्मिता ने बताया कि वह आगे की पढ़ाई कर चिकित्सक बनना चाहती है और लोगों की सेवा करना चाहती है। सुष्मिता के पिता गौरांग कुमार सीट शिक्षक हैं। वे बहरागोड़ा स्थित इचड़ाशोल के निवासी हैं। इधर, मालती सोरेन ने 475 अंक प्राप्त कर जिले में तीसरा स्थान प्राप्त किया है। वह चिकित्सक बनना चाहती है। स्मृति कर को भी 475 अंक (95 प्रतिशत) मिले हैं। वह जिले में तीसरे स्थान पर हैं। वह डॉक्टर बनना चाहती हैं। स्मृति के पिता आशीष कर शिक्षक हैं। वे पिठापुरा गांव के निवासी हैं। एसएस विद्या मंदिर में भाग्रंब प्रधान को 472 अंक व माधुरी साहू को 474 अंक मिले हैं। ज्ञात हो कि सरस्वती शिशु विद्या मंदिर से इस वर्ष 157 विद्यार्थी मैट्रिक बोर्ड की परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं। 22 छात्रों को 90 प्रतिशत, 69 छात्रों को 80 प्रतिशत, 40 छात्रों को 70 प्रतिशत व 25 छात्रों को 60 प्रतिशत अंक मिले हैं। बलियागुड़ी की सोनाली बनी जिला में द्वितीय टॉपर : लंबे अर्से तक घोर नक्सलवाद का दंश झेलनेवाले चाकुलिया प्रखंड के मटियाबांधी पंचायत के बलियागुड़ी गांव की एक बेटी ने गुरुवार को पूरे इलाके को गौरवान्वित कर दिया। गांव की छात्रा सोनाली तिवारी जैक बोर्ड की मैट्रिक परीक्षा में पूर्वी सिंहभूम जिला में सेकंड टॉपर घोषित हुई है। मटिया बांधी आंचलिक विद्यापीठ उच्च विद्यालय की छात्रा सोनाली को 95.2 प्रतिशत यानी 476 अंक प्राप्त हुए हैं। उसे हिदी में 97, अंग्रेजी में 96, गणित में 94, विज्ञान में 96, सामाजिक विज्ञान में 88 तथा संस्कृत में 93 अंक मिले हैं। बेटी की शानदार सफलता पर पिता शूलपानी तिवारी तथा मां प्रिया तिवारी फूले नहीं समा रहे हैं। परीक्षा परिणाम की जानकारी मिलने के बाद उन्होंने बेटी का मुंह मीठा कराकर खुशी का इजहार किया। सोनाली के पिता गांव के मंदिर में पुजारी हैं जबकि मां गृहणी है। पिछड़ा क्षेत्र तथा परिवार की माली हालत अच्छी नहीं होने के बावजूद दो बहनों में छोटी सोनाली ने मन लगाकर पढ़ाई की व सफलता का परचम लहरा दिया। भविष्य की योजना के बाबत सोनाली ने कहा कि आगे विज्ञान लेकर पढ़ना है। बाकी अभी कुछ भी तय नहीं किया है। पूर्वी सिंहभूम की सेकेंड टॉपर इशिका बनेगी चिकित्सक : पूर्वी सिंहभूम की छात्रा इशिका काश्त ने मैट्रिक के परीक्षा परिणाम में जिले में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। उसके पिता देवदत्त मानस कुमार काश्त किसान है। खेती-बाड़ी से ही इनकी जीविका चलती है। मां माया रानी काश्त गृहणी है। कोकपाड़ा हाईस्कूल की यह टॉपर छात्रा है। इशिका को 500 में से 476 अंक प्राप्त हुआ है। उसे हिदी में 80, इंग्लिश में 78, गणित में 72, सोशल साइंस में 69, एसएचसी में 69 अंक प्राप्त हुए है। वह आगे बायो साइंस लेकर पढ़ना चाहती है तथा भविष्य में चिकित्सक बनने का इरादा रखती है। कोकपाड़ा की रहने वाली इस छात्रा ने बताया कि मेहनत करते जाइए फल अपने आप प्राप्त होगा। समयबद्ध तरीके से पढि़ए, जरूरी नहीं कि घंटो पढि़ए।

Edited By: Jagran