जमशेदपुर : कोविड 19 के कारण कई शेयर अर्श से फर्श से पहुंच गए थे। लेकिन अनलॉक होने के बाद कई शेयरों ने नया रिकार्ड बनाए। इसे देखते हुए देश में 63 लाख नए डीमेट एकाउंट खुले और नए निवेशकों ने शेयर बाजार में जमकर निवेश किया। जमशेदपुर के जाने-माने वित्त विशेषज्ञ अनिल गुप्ता बताते हैं कि कई ऐसे शेयर भी हैं जिनका प्रदर्शन उतना बेहतर नहीं है लेकिन उनका शेयर प्राइज मात्र एक साल में 37 गुणा बढ़ गया है। इसके कारण इनके निवेशकों को बंपर आमदनी हुई। आज हम ऐसे ही एक शेयर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसने अपने प्रदर्शन के विपरित उनके शेयर निवेशकों को मालामाल कर रहे हैं।

5.50 रुपये पर था ये शेयर

हम बात कर रहे हैं गीता रिन्युएबल एनर्जी कंपनी की। 29 जून 2020 को इस शेयर ने 5.50 रुपये का न्यूनतम अंक पर थी लेकिन 30 जुलाई को अपर सर्किट के साथ कंपनी का शेयर पांच प्रतिशत की अपर सर्किट के साथ 203.85 रुपये पर बंद हुआ और इसने एक दिन में 9.70 रुपये की बढ़त बनाई। कंपनी के शेयर पर लग रहे अपर सर्किट को देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि कंपनी के शेयर भविष्य में और बढ़ेंगे।

निवेशकों को दिया 37 गुणा रिटर्न

एक साल पहले कंपनी के एक शेयर की कीमत 5.50 रुपये था। यानि जिस निवेशक ने कंपनी में एक लाख रुपये का निवेश किया। उसकी कीमत वर्तमान में 37 लाख रुपये होती। यही नहीं इस साल की शुरूआत में यानि जनवरी से 29 जुलाई की अवधि को देखे तो गीता रीन्युएबल एनर्जी के शेयर ने 2,797.76 प्रतिशत की बढ़त हासिल की। सिर्फ एक माह में कंपनी का शेयर 154.29 प्रतिशत तक बढ़ चुका है। 29 जुलाई गुरुवार को इस शेयर की कीमत 194.15 रुपये थी जो अब बढ़कर 203 रुपये हो चुकी है।

प्रमोटरों के पास है 73 प्रतिशत हिस्सेदारी

जून तिमाही के अंत तक इस कंपनी के प्रमोटरों के पास 73.05 प्रतिशत की हिस्सेदारी थी जबकि पब्लिक के पास 26.95 प्रतिशत थी। इनमें सिर्फ 4191 आम शेयरधारकों के पास कंपनी के 11.08 लाख शेयर थे। इनमें 3947 शेयरधारकों के पास दो लाख रुपये तक के शेयर थे जबकि तीन शेयरधारकों के पास कंपनी के दो लाख से ज्यादा शेयर थे।

प्रतिद्वंद्वी कंपनियों की तुलना में जबदस्त प्रदर्शन

गीता रीन्युएबल एनर्जी के शेयर के प्रदर्शन की बात करे तो इस कंपनी के शेयर ने प्रतिद्वंद्वी कंपनियों की तुलना में जबदस्त प्रदर्शन किया। इसमें रवींद्र एनर्जी के शयर में 121.47 प्रतिशत, जीवीके पावर एंड इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयर में 27.11 प्रतिशत और ऊर्जा ग्लोबल के शेयर में 162.13 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई।

कंपनी के प्रदर्शन और शेयर की कीमत में नहीं है तालेमल

83.58 करोड़ की मार्केट कैपिटल वाली गीता रीन्युएबल एनर्जी के प्रदर्शन और उसके शेयर की कीमत पर गौर करें तो तालमेल नहीं बैठता। तमिलनाडु के गूमिडुपूंडी में वर्ष 2010 में गीता रीन्यूएबल एनर्जी की स्थापना हुई थी। जो पवन ऊर्जा, सोलर और हाइड्रो जैसे नवीकरणीय ऊर्जा स्त्रोतों से बिजली का उत्पादन करती है। सितंबर 2017 से कंपनी लगातार घाटे में रही। मार्च 2021 की तिमाही में कंपनी ने 15 लाख रुपये का मुनाफा अर्जित किया। जबकि पिछले पांच वर्षो में कंपनी की आय में 63 प्रतिशत की गिरावट आई है।

रहना होगा सचेत

पेनी शेयर में निवेश काफी जोखिम भरा होता है इसलिए विशेषज्ञ पेनी शेयरों से बचने की सलाह देते हैं। क्योंकि इन शेयरों के उतार चढ़ाव में काफी जोखिम होता है। जिन निवेशकों ने उक्त कंपनी में निवेश किया है तो वे अपना स्टॉप लांस लगाकर चले। नहीं तो आपको काफी नुकसान हो सकता है।

Edited By: Jitendra Singh