जमशेदपुर, जासं। झारखंड में इन दिनों विधानसभा चुनाव अपने चरम पर है। ऐसे में दैनिक जागरण की ओर से जमशेदपुर के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से बातचीत कर यह जानने का प्रयास किया गया कि पांच साल का राज्य सरकार का कार्यकाल कैसा रहा? सरकार का कामकाज कैसा रहा? सरकार की उपलब्धि क्या रही और नई सरकार से किस तरह की उम्मीदें हैं? इस पर लोगों ने अलग-अलग राय रखी, साथ ही नई सरकार से मांग की कि आयुष्मान योजना का लाभ बेहतर तरीके से लोगों तक पहुंचाने का काम किया जाए, ताकि गरीबों को इलाज के लिए दर-दर भटकना न पड़े। साथ ही विकास के काम में तेजी लाने की भी मांग की गई। पेश है बातचीत के मुख्य अंश.

झारखंड के इतिहास में पहली बार पांच वर्षो तक किसी सरकार ने अपना कार्यकाल पूरा किया है। सरकार का कार्यकाल ठीक रहा। अगली बार फिर से डबल इंजन की सरकार बने। राज्य में मेडिकल की सुविधा बेहतर हो। आयुष्मान योजना में कार्ड बनने के बावजूद बहुत भटकना पड़ता है इसका समाधान किया जाए।

-आर भास्कर राव, साकची

झारखंड बहुत समृद्ध राज्य कहा जाता है लेकिन अब भी कंगाल है। यहां अभी तक जितने उद्योग लगने चाहिए, नहीं लगे। कई राजनीतिक दल विकास कार्य में अड़ंगा डालते हैं। सरकार का पिछला कार्यकाल ठीक रहा है। जो भी सरकार बने बंद पड़ी कंपनियां फिर से खोले, ताकि रोजगार के लिए पलायन रुके।

-अनिल कुमार, फिल्म निदेशक, गम्हरिया

पांच साल चली सरकार ने ठीक काम किया। अब नई सरकार से उम्मीद है कि आयुष्मान योजना को और समृद्ध करे, ताकि इसका लाभ मिलने में अब भी जो कठिनाई हो रही है, वह न हो। एमजीएम की स्थिति में सुधार हो और इतने वर्षो से लंबित एनएच-33 को जल्द से जल्द पूरा किया जाए ताकि झारखंड विकास के नए रास्ते पर आगे बढ़ सके।

-पप्पू साहू, गोलमुरी

झारखंड सरकार का वर्तमान कार्यकाल औसत रहा। पूर्ण बहुमत की सरकार से जो उम्मीद थी वह नहीं हो पाया। एनएच-33 का मामला हो या एमजीएम या फिर 24 घंटे बिजली। सरकार हर मामले में फेल रही है। रघुवर सरकार ने ही पूर्व में घोषणा की थी कि उनकी सरकार सभी को 24 घंटे बिना कटौती बिजली देगी, लेकिन संभव नहीं हो पाया।

-राकेश सिंह, बागबेड़ा

झारखंड में पूर्व की सरकारों से रघुवर सरकार का कार्यकाल ठीक ही रहा। इस सरकार में सड़कों का चौड़ीकरण, नए पुल सहित गरीबों के लिए कई काम हुए। नई सरकार से उम्मीद है कि जो विकास के काम हो रहे, उनमें और तेजी आए।जो भी नागरिक झारखंड गठन से पहले यहां निवास कर रहे हैं उन्हें स्थानीयता मिले।

-सत्यम कुमार, गोविंदपुर

रघुवर सरकार की भाजपा सरकार का कार्यकाल बढि़या रहा। वर्तमान सरकार में जमशेदपुर शहर की बात करें तो यहां सड़कों की स्थिति सुधरी है। लेकिन यहां तकनीकि शिक्षा के लिए बड़ा कॉलेज खुलना चाहिए ताकि युवाओं का पलायन दूसरे राज्यों में न हो। इनके लिए रोजगार के नए साधन खुले। यहां ओडिसा की तर्ज पर एजुकेशन हब बनना चाहिए।

-देवकी साहू, टुइलाडुंगरी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस