जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटा स्टील के ऑक्यूपेशनल हेल्थ विभाग ने मंगलवार को थायरॉयड के विकारों को लेकर कंपनी के व‌र्क्स जेनरल ऑफिस में जागरुकता कार्यक्रम आयोजित किया। मुख्य अतिथि रुचि नरेंद्रन और विशिष्ट अतिथि टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद थे। इस अवसर पर रुचि नरेंद्रन ने टाटा स्टील की महिला कर्मचारियों के बीच थायरॉयड के विकारों के बारे में जागरुकता पैदा करने के लिए विभाग के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने कार्य से जुड़ी महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखने पर जोर दिया। टीडब्ल्यूयू अध्यक्ष आर रवि प्रसाद ने कहा कि यह कार्यक्रम कंपनी की हर महिला कर्मचारी तक पहुंचना चाहिए ताकि वे थायरॉयड संबंधी विकारों के बारे में उचित ज्ञान और जानकारी हासिल कर सकें। कार्यक्रम के दौरान डा. सुजाता मित्रा ने थायरॉयड से संबंधित समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी और समय पर इसकी पहचान एवं समय पर इलाज के महत्व को रेखाकित किया। बताया कि पूर्वी भारत में लगभग 16 प्रतिशत महिलाएं थायरॉयड की समस्या से ग्रसित हैं। थायरॉयड की बीमारी से प्रजनन संबंधी समस्या, अकाल गर्भपात, मासिकधर्म और रजोनिवृत्ति संबंधित गड़बड़िया पैदा हो सकती हैं। इसलिए जटिल होने पहले इस विकार का निदान आवश्यक है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप