जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टीएमएच में शनिवार की सुबह प्रीतम नामक युवक की मौत के बाद टीएमएच में हंगामा व तोड़फोड़ मामले में पुलिसिया कार्रवाई के खिलाफ रविवार को भी जमकर हंगामा हुआ। टीएमएच में मरीज की मौत से गुस्साए गोलमुरी नामदा बस्ती के युवकों ने अस्पताल परिसर में तोड़फोड़ की थी। मामले में कार्रवाई करते हुए बिष्टुपुर पुलिस ने नामदा बस्ती निवासी कुनाल सिंह को रविवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के विरोध में नामदा बस्ती के सैकड़ों युवकों ने बिष्टुपुर थाना का घेराव कर दिया। लोग कुनाल को छोड़ने की मांग कर रहे थे। पुलिस ने उनकी नहीं सुनी और थाना में युवक हंगामा करते रहे। कुछ देर के बाद थाना पहुंचे बिष्टुपुर इंस्पेक्टर से युवकों ने बातचीत की। उन्होंने युवकों को सीएम आवास भेज दिया। कुछ युवक सीएम आवास गए और वहां मौजूद एक पदाधिकारी से बिष्टुपुर इंस्पेक्टर की बात करवाई। हालांकि इस बातचीत से कोई फर्क नहीं पड़ा। युवकों को जब पता चला कि पुलिस ने कुनाल को नहीं छोड़ा है तो वे माइकल जॉन ऑडिटोरियम के समीप जाकर हंगामा करने लगे। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग कर युवकों को खदेड़ा। हंगामा करनेवाले फिर बिष्टुपुर थाना पहुंच गए। स्थिति को देखते हुए मौके पर दो ब्रज वाहन सहित काफी संख्या में पुलिस बल मंगवाया गया। वहीं सीसीआर डीएसपी सुधीर कुमार, इंस्पेक्टर श्रीनिवास सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी भीड़ को समझाने का प्रयास करते रहे। यह बात भी हुई कि तोड़फोड़ में हुए नुकसान की भरपाई कर दी जाएगी लेकिन बात नहीं बनी। इसके बाद हंगामा करनवाले लौट गए। सुरक्षाकर्मी पीएन शर्मा की ओर से कुनाल सिंह के खिलाफ टीएमएच में घुसकर तोड़फोड़ व हंगामा करने के आरोप में बिष्टुपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद बिष्टुपुर पुलिस गोलमुरी थाना पहुंची। वहां की पुलिस ने कुनाल को थाना बुलाया और पकड़कर बिष्टुपुर पुलिस के हवाले कर दिया। पूर्व में भी कुनाल मारपीट के मामले में जेल जा चुका है। गोलमुरी पुलिस के लिए मुखबिरी का भी काम करता है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस