जमशेदपुर, जासं। सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक या स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआइ) ने ऋण या लोन पर ब्याज दर घटा दिया है। इससे उन सभी को फायदा होगा, जो किसी न किसी वजह से ऋण लेना चाहते हैं। दुर्गापूजा व दीपावली को देखते हुए बैंक ने यह पहल की है। इसमें लोन के बेस रेट में पांच बेसिक प्वाइंट या 0.05 प्रतिशत कम कर दिया है। इसके साथ ही बैंक का बेस रेट 7.45 प्रतिशत या पर्सेंट हो गया है।

15 सितंबर से लागू हो चुका है नया रेट

स्टेट बैंक ने 15 सितंबर से इंटरेस्ट घटाया है। इसके साथ ही एसबीआइ ने अपना प्राइम लेंडिंग रेट भी पांच बेसिक प्वाइंट घटाकर 12.20 प्रतिशत कर दिया है। एसबीआइ की ब्याज दरों में कटौती का फायदा उसके ग्राहकों को मिलेगा। अब जो भी लोग स्टेट बैंक से गृह ऋण या होम लोन, वाहन ऋण या व्हीकल लोन या व्यक्तिगत ऋण या पर्सनल लोन लेंगे, उन्हें मासिक किस्त में कम ब्याज लगेगा। इसके लिए बैंक ने ऋण शिविर या लोन मेला लगाने की भी योजना बनाई है, ताकि इस सुविधा का ज्यादा से ज्यादा प्रचार-प्रसार हो सके।

महिलाओं को 0.05 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट

भारतीय स्टेट बैंक ने इससे पहले भी गृह ऋण या होम लोन के ब्याज दर में कमी की थी। इसके बाद अप्रैल से होम लोन का ब्याज 6.70 प्रतिशत हो गया था। इसमें ऋण लेने वाली महिलाओं को बैंक अतिरिक्त 0.05 प्रतिशत की छूट देने की घोषणा की थी।

ज्ञात हो कि बेस रेट का निर्धारण भारतीय रिजर्व बैंक करता है, जो फिलहाल 7.30 से 8.80 प्रतिशत है। इस बेस रेट के बीच ग्राहकों से कितना ऋण लिया जाए, यह बैंक के अधिकार में होता है। यहां बता दें कि लोन पर इंटरेस्ट कम दिखाने के लिए सभी बैंक ग्राहकाें को आकर्षित करते हैं, लेकिन ग्राहकों को इस बात का परीक्षण अवश्य करना चाहिए कि कहीं बैंक रिजर्व बैंक के बेस रेट से कम तो नहीं दिखा रहे हैं। यदि ऐसा है तो ग्राहक रिजर्व बैंक से शिकायत कर सकते हैं।

Edited By: Jitendra Singh