जागरण संवाददाता, जमशेदपुर :

चना व चना दाल की कीमतों में अचानक भारी वृद्धि होने से सभी लोग चिंतित हो गए हैं। इसे लेकर झारखंड सरकार के खाद्य आपूर्ति, उपभोक्ता मामले व संसदीय कार्य मंत्री सरयू राय ने मंगलवार को शहर के कारोबारियों संग बैठक की, जिसमें तमाम पहलुओं पर बातें हुई। बिष्टुपुर स्थित चैंबर भवन में बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि दाल समेत अन्य खाद्य पदार्थो के व्यापार में टाटा, अंबानी, अडाणी जैसे बड़े कारोबारी आ गए हैं। चूंकि इनकी क्षमता बहुत ज्यादा है, इसलिए ये मन मुताबिक इनका स्टॉक व मूल्य निर्धारण करते हैं। हमारा इन पर नियंत्रण नहीं है। राज्य सरकार का कार्य क्षेत्र बस इतना है कि थोक व खुदरा कीमतों में बहुत ज्यादा अंतर नहीं होना चाहिए। स्थानीय बाजार में अंतर संतुलित है, इसलिए छापेमारी या जांच की आवश्यकता नहीं है। सिंहभूम चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री ने शहर के विभिन्न बाजारों में सुविधा केंद्र खोलने की घोषणा की है, जो बहुत ही सराहनीय कदम है। यहां उपभोक्ताओं को 125 रुपये किलो चना दाल मिलेगा। चैंबर के पूर्व उपाध्यक्ष दीपक भालोटिया ने बताया कि फिलहाल गोलमुरी बाजार के पवन स्टोर और जुगसलाई पानी टंकी के पास पवन स्टोर में आम उपभोक्ताओं को छठ तक पांच किलो तक दाल मिलेगा। अन्य बाजारों के दुकानों का निर्धारण भी बुधवार तक कर लिया जाएगा। यहां दुकानदारों को दाल नहीं दिया जाएगा।

इससे पूर्व सिंहभूम चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष सुरेश सोंथालिया, महासचिव प्रभाकर सिंह, उपाध्यक्ष नंदकिशोर अग्रवाल, सत्यनारायण अग्रवाल, महेश गोयल आदि ने दाल की कीमतों पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन उपाध्यक्ष विजय आनंद मूनका व धन्यवाद ज्ञापन मानव केडिया ने किया, जबकि इस अवसर पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी दिलीप कुमार तिवारी भी उपस्थित थे।

.........

दाल-सब्जी की महंगाई पर सरकार की नजर

मंत्री सरयू राय ने कहा कि छठ के पर्व पर कारोबारी सब्जी और दालों की कीमतों में इजाफा कर रहे हैं। यह गलत है। सरकार की इन पर नजर है। जिला प्रशासन को इस संबंध में जरूरी हिदायतें दी गई हैं। सरकार के पास दाल का काफी स्टॉक है। आवक अगर कम हो रही है तो इसे सरकार देखेगी। बाजार समिति के सचिव को भी निर्देश दिये गये हैं। मंत्री ने कहा कि अभी छापेमारी की जरूरत महसूस नहीं हो रही है लेकिन, कीमतों में अंधाधुंध इजाफा नहीं होने दिया जाएगा। जमशेदपुर में कारोबारियों के साथ इस मुद्दे पर बैठक की गई है। रांची में चैंबर ऑफ कॉमर्स के साथ बैठक में भी यह विषय उठेगा।

-----------------------

सोनारी में सब्जी विक्रेताओं की हो वैकल्पिक व्यवस्था

खाद्य आपूर्ति एवं संसदीय कार्य मंत्री सरयू राय ने कहा है कि सोनारी में जब से फुटपाथ पर सब्जी बेचने वालों को अतिक्रमण हटाओ अभियान के तहत हटाया गया है, वहां सब्जी महंगी मिलने लगी है। यहां के दुकानदार ग्राहकों से सब्जी के ज्यादा दाम लेते हैं। मंत्री ने जिला प्रशासन से फुटपाथ दुकानदारों को सब्जी बेचने के लिए वैकल्पिक स्थान देने की बात कही ताकि आमजन का भला हो सके। मंत्री ने सोनारी में अतिक्रमण हटाए जाने का मामला प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की लांचिंग के मौके पर दिए अपने भाषण में भी उठाया।

----------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस