जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : टाटा ट्रस्ट के अध्यक्ष रतन टाटा ने कर्मचारियों को टाटा समूह का उत्तराधिकारी और संरक्षक बताते हुए शुक्रवार को कहा कि ट्रस्ट समाज में सतत बदलाव लाने में विश्वास रखता है। टाटा ने इस लोककल्याणकारी संगठन के 125 वें स्थापना दिवस और इसके संस्थापक जमशेदजी नौसेरवानजी टाटा की 178वीं जयंती पर कर्मचारियों को लिखे पत्र में कर्मचारियों से कहा कि आपके उत्साह, जोश और सत्यनिष्ठा के साथ कड़ी मेहनत ने समूह को इस स्तर पर पहुंचाया है। आपके कारण ही हमें अपने समाज और राष्ट्र की सेवा करने का मौका और अवसर मिला। इस ट्रस्ट की टाटा संस में सबसे अधिक 66 प्रतिशत की हिस्सेदारी है तथा टाटा संस देश की सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टीसीएस, टाटा मोटर्स और टाटा स्टील जैसी कंपनियों का संचालन करती है। यह समूह नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक का कारोबार करता है। उन्होंने कर्मचारियों को ट्रस्ट का सबसे बड़ा शेयरधारक बताते हुये कहा कि विरासत को बचाए रखने में कर्मचारियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने उम्मीद जताई कि समूह के कारोबार से आगे सोचने पर कर्मचारियों को गर्व होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस