जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : शहर के पार्किग में वाहन मालिकों से पांच की जगह 10 रुपये वसूलने व 15 मिनट निश्शुल्क पार्किग के निर्देश को ठेंगा दिखाने वाले पार्किग ठेकादरों की मनमानी के खिलाफ 'दैनिक जागरण' में छपी खबर पर जिला प्रशासन सक्रिय हो गया है। खबर की कटिंग को शहर के सुनील सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ट्वीट करते हुए वस्तुस्थिति से अवगत कराया था। इस पर मुख्यमंत्री ने तुरंत संज्ञान लेते हुए ठेकेदारों की मनमानी पर रोक लगाते हुए कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला को दिया। उपायुक्त ने भी बिना देर किए जमशेदपुर अक्षेस के विशेष पदाधिकारी को कार्रवाई का निर्देश ही नहीं दिया, कार्रवाई से तत्काल मुख्यमंत्री को अवगत भी करा दिया।

उपायुक्त अक्षेस के विशेष पदाधिकारी को नोटिस देते हुए 48 घंटे के अंदर जवाब देने को कहा है। उपायुक्त ने बताया कि पार्किग ठेकेदारों से कहा गया है कि दोबारा किसी प्रकार की शिकायत मिली तो उनका पार्किग लाइसेंस रद कर दिया जाएगा। इसके साथ ही जुर्माना भी वसूला जाएगा।

------------

सिटी मैनेजर नहीं सुनता है तो करें उपायुक्त से शिकायत

पार्किग के दौरान अगर ठेकेदार या उनके कर्मचारी मनमानी वसूली करते हैं या किसी तरह से वाहन मालिक को परेशान करते हैं, तो लोग पहले इसकी शिकायत सिटी मैनेजर के मोबाइल नंबर पर फोन या एसएमएस से करें। इसके बाद भी सिटी मैनेजर किसी तरह की कार्रवाई नहीं करते हैं तो उस एसएमएस का स्क्रीन शॉट लेकर उपायुक्त से मिलें। जांच के बाद सिटी मैनेजर के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।

---------------

पार्किग ठेकेदार सीधे नहीं कर सकता कार्रवाई

उपायुक्त रविशंकर शुक्ला ने कहा कि अब पार्किग ठेकेदार यात्रियों के साथ दु‌र्व्यवहार नहीं कर सकते। पार्किग ठेकेदार को किसी तरह की परेशानी हो तो वे स्थानीय थाना में इसकी शिकायत कर सकते हैं। वे सीधे किसी भी वाहन मालिक के साथ मारपीट व दु‌र्व्यवहार करते हुए पकड़े गए तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

-----------

वाहन मालिकों को जागरूक करने के लिए बोर्ड लगाने की जरूरत

साकची हो या बिष्टुपुर पार्किग स्थल पर 10 से 15 मिनट तक निश्शुल्क पार्किग का नोटिस बोर्ड तक नहीं लगाया गया है और न ही वाहन मालिकों को जागरुक करने के लिए किसी तरह की पहल की जा रही है। इसके अभाव में वाहन मालिकों को अपने वाहन पार्किंग एरिया में लगाते ही शुल्क देना पड़ता है। शुल्क वसूलने वाले भी गाड़ी लगाते ही दौड़ पड़ते हैं। यदि वाहन मालिक ने उनकी ओर ध्यान नहीं दिया तो अभद्र तरीके से ध्यान आकर्षित करते हैं। इसके साथ ही पार्किंग शुल्क देने को कहते हैं, जो नियम का सरासर उल्लंघन है। कई बार बिना पर्ची दिए पार्किंग कर्मी पांच की जगह 10 रुपये ले लेते हैं।

----------

नगर प्रबंधक के इन हेल्पलाईन नंबरों पर करें फोन या एसएमएस

पार्किग ठेकेदारों द्वारा अगर किसी तरह का दु‌र्व्यवहार वाहन मालिक के साथ, पार्किग शुल्क से अधिक रकम वसूली की जा रही है। 15 मिनट निश्शुल्क पार्किग की सुविधा नहीं दी जा रही है तो नगर प्रबंधक के इन नंबरों पर फोन या एसएमएस कर सूचित कर सकते हैं। अगर आपके द्वारा किए गए फोन या एसएमएस पर कोई कार्रवाई नहीं होती है तो जिले के उपायुक्त से मिल कर अपनी शिकायत कर सकते हैं।

नगर प्रबंधक अंबुज कुमार : 9631226455

नगर प्रबंधक रविशंकर भारती : 7004787828

नगर प्रबंधक सोनल सिंह चौहान : 7979712424

सवि विशेषज्ञ हरिकांत उपाध्याय : 7909023599

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस