जमशेदपुर, अमित तिवारी।  यह कोल्हान का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल है। लेकिन इसके हाल के कहने ही क्या। महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज अस्पताल राम भरोसे ही चल रहा है। स्थिति यह है कि मरीजों के लिए लगाए गए अधिकांश पंखे भी खराब हो गए है। गर्मी से मरीज उबल रहे है। उनकी पीड़ा देखकर एक मरीज के परिजन से रहा नहीं गया और वह अपने घर से रिक्शा बुक कर स्टैंड पंखा लेकर चले आया और उसे अस्पताल में लगा दिया। अब इसी पंखे के सहारे हड्डी रोग विभाग के एक वार्ड के मरीज निर्भर है। जिसको गर्मी लगता वह इस पंखे को अपनी ओर घुमा लेता है। 

भुइयांडीह स्थित ग्वाला बस्ती निवासी चंद्रदेव साह ने बताया कि उसके नाती आदित्य कुमार का पैर खेलने के दौरान टूट गया था। इसके बाद उसे एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया गया। करीब एक माह से हड्डी रोग विभाग में भर्ती है। इस वार्ड के पंखे खराब हैं। एक-दो जो चल रहे हैं वे भी धीरे-धीरे। इसे लेकर कई बार संबंधित कर्मचारियों से शिकायत की गई। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई। अंत में हारकर चंद्रदेव साह ने अपने घर से पंखा लेकर आए और लगाए है।

52 से अधिक पंखा खराब, एसी भी नहीं कर रहा काम

एमजीएम अस्पताल का पंखा व एयर कंडीशन (एसी) खराब हैं। ओपीडी व आइसीयू के एयर कंडीशन भी काम नहीं कर रहा है। सबसे अधिक पंखा महिला एवं प्रसूति विभाग के पंखे खराब हैं। सभी वार्डों को मिलाकर देखा जाए तो 52 से अधिक पंखा खराब पड़े हैं। मेडिसीन विभाग के शौचालय में भी पानी नहीं है। जिसके कारण मरीजों को बाहर जाना पड़ रहा है। जो मरीज चलने-फिरने में असमर्थ हैं वे बोतल में पानी लेकर अस्पताल के ही शौचालय में जा रहे हैं। इससे शौचालय जाम हो गया है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस