जमशेदपुर, जासं। 11वीं में फेल हुए छात्रों का 12वीं में एडमिशन नहीं लिए जाने का एक मामला मोतीलाल नेहरू पब्लिक स्कूल (एमएनपीएस) में देखने को मिला। इस कारण स्कूल के बाहर अभिभावकों ने हंगामा भी किया।

पहले सभी बच्चों को री टेस्ट के बाद एडमिशन दिए जाने की बात स्कूल प्रबंधन द्वारा कही गई थी। इसकी तैयारी बच्चे लॉकडाउन में कर रहे थे, लेकिन अचानक स्कूल प्रबंधन ने कहा कि सभी बच्चों के फिर से उसी क्लास में पढ़ाई करनी होगी। इसके विरोध में सारे अभिभावक एमएनपीएस के गेट में जुटे तथा हंगामा किया। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी भी की। अभिभावक सुमन कुमार, ज्योतिरादित्य समेत कई अभिभावकों का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से परीक्षा नहीं ली गई, जबकि वे चाहते हैं कि उनके बच्चों का टेस्ट लिया जाए।

स्कूल की प्रिंसिपल ने कही ये बात

इधर, स्कूल की प्रिंसिपल आशु तिवारी ने कहा कि हमने चार-बच्चों के अभिभावकों को बुलाया था, ताकि वे काउंसिल को आवेदन कर सकें। इस बार 11वीं की परीक्षा काउंसिल ने ली थी। ऐसे में मेरे हाथ बंधे हुए हैं। अभिभावक री टेस्ट की मांग कर रहे थे। यह मेरे स्तर से संभव नहीं है। इसके लिए स्कूल के माध्यम से काउंसिल को आवेदन देना होगा। काउंसिल की ओर से रीटेस्ट का कोई निर्देश जारी नहीं हुआ है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस