जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। कोरोना वायरस को लेकर दहशत का आलम यह है कि तमाम लोग हर तरह से बचाव का कोई उपाय नहीं छोड़ना चाह रहे। रेलवे के कर्मचारी भी इससे अछूते नहीं हैं।

टाटानगर सहित चक्रधरपुर मंडल के दस हजार रनिंग कर्मचारियों की दहशत का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वे बाययोमीट्रिक से हाजिरी बनाने से परहेज करने लगे हैं। इस समस्या के निदान के लिए दक्षिण पूर्व रेलवे मेंस यूनियन के पदाधिकारियों ने वरिष्ठ विद्युत अभियंता परिचालन को ज्ञापन सौंप कर बायोमीट्रिक से हाजिरी बनाने की बजाय कोई दूसरा विकल्प तलाशने की गुहार लगाई है  ताकि रेलकर्मी सुरक्षित रहे। चक्रधरपुर मंडल के टाटानगर, सीनी, चक्रधरपुर, आदित्यपुर, डोंगवापोसी सहित अन्य स्टेशनों पर करीब दस हजार रनिंग कर्मचारी प्रतिदिन बायोमीट्रिक  हाजिरी बना रहे हैं।  रनिंग कर्मचारी में चालक, सह चालक, गार्ड सहित अन्य रनिंग कर्मचारी शामिल है। 

कोल्‍हान विश्‍वविद़यालय ने रद की राष्ट्रीय संगोष्ठी

कोरोना वायरस को लेकर एहतियात बरतते हुए कोल्हान विश्वविद्यालय की ओर से सात व आठ मार्च को आयोजित की जानेवाली राष्ट्रीय संगोष्ठी को स्थगित कर दिया गया है। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सात व आठ मार्च को कोल्हान विश्वविद्यालय के जनजातीय एवं क्षेत्रीय भाषा विभाग की ओर से इस राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जाना था।

कोल्हान विश्वविद्यालय के कुलानुशासक की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि मानव संसाधन विकास विभाग की ओर से पत्र जारी कर यह सलाह दी गई थी कि कैंपस में भीड़ जमा होने से बचने की जरूरत है। उक्त पत्र के आधार पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का तत्काल प्रभाव से स्थगित कर दिया गया है। कुलानुशासक डॉ. एके झा ने बताया कि आयोजन की अगली तिथि की सूचना इस संबंध में निर्देश प्राप्त होने के बाद दी जाएगी। 

स्कूली बच्चों ने धोए एंटीबायोटिक साबुन से हाथ

उपायुक्त रविशंकर शुक्ला के निर्देश के आलोक में शुक्रवार को नोवल कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए जिले के सभी प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय में जागरूकता एवं हाथ धुलाई कार्यक्रम आयोजित किया गया। बच्चों को एंटीबायोटिक साबुन भी उपलब्ध करा दिया गया।

गौरतलब है कि उपायुक्त ने विद्यालय स्तर पर जागरूकता एवं बचाव हेतु हाथ धुलाई के सही तरीकों से संबंधित पोस्टर, हैंड वॉश यूनिट  विद्यालय परिसर में लगाने, संक्रमण से बचाव के तरीकों का भी पोस्टर विद्यालय में लगाने, विद्यालय स्तर पर विद्यालय प्रबंधन समिति एवं अभिभावकों की बैठक कर संक्रमण से बचाव के बारे में जागरूकता फैलाने, बच्चों को जानकारी देने और भोजन से पूर्व साबुन से हाथ धोने के प्रति छात्रों को जागरूक करने संबंधी निर्देश दिया था।

इसका अभ्यास शुक्रवार को विद्यालयों में कराया गया। असेंबली में भी बच्चों को जागरूकता के उपायों के बारे में जानकारी दी गई तथा हाथ धुलाई के सही तरीकों का प्रदर्शन भी किया गया। इसके साथ ही उपायुक्त के निर्देश पर जिला प्रशासन द्वारा आम लोगों को भी विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के उपायों के संदर्भ में जानकारी दी जा रही है। अभी तक पूर्वी सिंहभूम जिले में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं पाए गए हैं।

 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस