जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। सुनी पुकार दातार प्रभ गुर नानक जग माहे पठाया...। सिद्ध बोलन शुभ बचन धन नानक देरी बड़ी कमाई..। आदि कीर्तन गायन से लौहनगरी मंगलवार को निहाल हुई। गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव के मौके पर लौहनगरी के सभी गुरुद्वारों में रविवार को रखे गए श्री अखंड पाठ का भोग मंगलवार की सुबह डाला गया और उसके उपरांत शब्द विचार एवं गुरु नानक जी के जीवन एवं सिद्धांत पर प्रकाश डाला गया। इसके साथ ही कीर्तन दरबार में कीर्तनी जत्थे ने शबद गायन किया। 

गुरुनानक देव जी के प्रकाश उत्सव के मौके पर पहली बार रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा से शोभा यात्रा मंगलवार की सुबह करीब 10.30 बजे निकली। ज्ञानी मनमोहन सिंह जी ने अरदास कर शोभा यात्रा का शुभारंभ किया। शोभा यात्रा के आगे-आगे 10 वर्षीय गुनबीर सिंह घोड़े में सवार होकर आकर्षक का केंद्र बना हुआ था। जबकि उनके पीछे रिफ्यूजी कालोनी के नौजवान घोड़ों में सवार थे।

पांच प्यारों की सेवा ज्ञानी कुलवंत सिंह, ज्ञानी प्यारा सिंह, ज्ञानी जितेंद्र सिंह, ज्ञानी सुरेंद्र सिंह एवं ज्ञानी मनजीत सिंह तथा गुरु के वजीर की सेवा ज्ञानी विवेक सिंह निभा रहे थे। जिसके पीछे कोलकाता से आई बैगपाइपर बैंड पार्टी जिसका नेतृत्व जीत चटर्जी एवं देवव्रत सरकार संयुक्त रूप से कर रहे थे। 25 सदस्यीय बैंड पार्टी लोगों को अपने और आकर्षित कर रही थी। जिसके पीछे धर्म प्रचार कमेटी की बाबा बंदा सिंह गतका टीम व साकची की गतका टीम करतब दिखाते हुए आगे बढ़ रही थी। इस गतका टीम में 50-60 बच्चे करतब दिखा रहे थे। जो संगत को दांतों तले अंगुली दबाने के लिए मजबूर कर रहे थे। जिसके पीछे पंजाब कन्या उच्च व मध्य विद्यालय के छात्र बैंड की धुन पर मार्च पास्ट करते हुए चल रहे थे। जिसके पीछे स्त्री सभा व नौजवान सभा कीर्तन गायन करते हुए आगे बढ़ रहे थे।

फूलों की ऊपर से गुजरी पालकी साहिब

रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा से निकली पालकी साहिब के आगे आगे संगत फूल बिछा रहे थे। जबकि रिफ्यूजी कालोनी वासी अपने अपने छत के ऊपर से पालकी साहिब पर फूलों की वर्षा कर रहे थे। रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा से मुख्य सड़क तक रेड कारपेट के ऊपर से पालकी साहिब गुजरी। पालकी साहिब रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा से होते हुए आरडी टाटा गोलचक्कर से कालीमाटी रोड होते हुए साकची नौ नंबर बस स्टैंड तक गई। फिर वहां से वापस लौटते हुए रिफ्यूजी गुरुद्वारा में इसका समापन मंगलवार की दोपहर दो बचे अरदास के बाद हुआ। पालकी साहिब के आगे आगे रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा के प्रधान हरमिंदर सिंह मिंदी, झारखंड गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रधान शैलेंद्र सिंह के साथ अमरजीत सिंह भामरा, सतनाम सिंह सिद्धू, सुरजीत सिंह छीते, अजीत सिंह, मनमोहन सिंह, बलविंदर सिंह, अरविंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, चरणपाल सिंह सहित सिख समाज व गैर सिख इस शोभा यात्रा में शामिल हुए। 

सिख नौजवान सभा ने की सड़क की सफाई

पालकी साहिब के गुजरने के बाद उसके पीछे-पीछे रिफ्यूजी कालोनी गुरुद्वारा की नौजवान सभा के सदस्यों ने सड़क की सफाई की।

कंट्रोलर की सेवा इन लोगों ने की शोभा यात्रा में कंट्रोलर की सेवा 

मनमोहन सिंह, ऋषि चावला, राजू डांग, गुरविंदर सिंह डांग, धर्मपाल सिंह आदि निभा रहे थे।

बारीडीह गुरुद्वारा 

प्रकाश पर्व को समर्पित कीर्तन दरबार सजाया गया। श्री अखंड साहिब के पाठ के भोग डालने के उपरांत हरप्रीत सिंह हनी एवं बीबी डिंपल कौर ने कीर्तन गायन किया। लंगर की सेवा संगत के बीच की गई। इस मौके पर मोहन सिंह, खुशविंदर सिंह, कश्मीर सिंह, अवतार सिंह, प्रधान बीबी मनजीत कौर, नरेंद्र कौर गुरमीत कौर निर्मल कौर दर्शन कौर सतनाम कौर आदि की सराहनीय भूमिका रही।

सोनारी गुरुद्वारा

गुरुनानक देव जी के प्रकाश उत्सव पर सोनारी गुरुद्वारा में सरजीत कौर, गुलशन कौर ने कीर्तन गायन किया। रागी जत्था मंजीत सिंह जी ने गुरवाणी कीर्तन संगत को निहाल किया। कीर्तन दरबार की समाप्ति के बाद गुरु का अटूट लंगर की सेवा संगत के बीच की गई। 

रामदास भïट्टा गुरुद्वारा 

गुरुनानक देव जी के प्रकाश उत्सव के मौके पर स्थानीय कीर्तनी जत्थे ने कीर्तन गायन किया। जिसके उपरांत गुरु का अटूट लंगर की सेवा की गई। वहीं रात आठ बजे से सुबह सुबह पांच बजे तक रामदास भïट्टा गुरुद्वारा परिसर में रहन सवाई का आयोजन किया जाएगा। जिसमें कीर्तनी संत बाबा रविंद्र सिंह जी जॉनी द्वारा कीर्तन गायन कर संगत को निहाल किया। इसके अलावा साकची, सीतारामडेरा, स्टेशन रोड गुरुद्वारा, बर्मामाइंस गुरुद्वारा, जुगसलाई गौंरी शंकर रोड गुरुद्वारा सहित अन्य गुरुद्वारा में कीर्तन श्री अखंड पाठ की समाप्ति के उपरांत कीर्तन दरबार का आयोजन किया गया। 

गुरु नानक देव जी के बताये हुए मार्ग पर चलना ही गुरु साहिब जी का असल गुरु परब मानना है। 

हरविंदर सिंह जमशेदपुर प्रचारक 

गुरु नानक देव जी के कृत करो नाम जपो और बांटकर खाओ का संदेश समाज को देना है और इस पर चलने का संकल्प दोहराना है।

हरमिंदर सिंह मिंदी प्रधान रिफ्यूजी कालोनी  गुरुद्वारा 

गुरु नानक देव जी ने सभी मनुष्य को एक ईश्वर की संतान बताया तथा निराकार प्रभु की उपासना पर बल दिया।

शैलेंद्र सिंह प्रधान झारखंड गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस