जमशेदपुर,जासं : कोल्हान विश्वविद्यालय प्रशासन ने विगत दिनों कोल्हान विश्वविद्यालय के प्रांगण में प्रवेश के लिए परिचय पत्र अनिवार्यता तथा समस्या से संबंधित पदाधिकारियों से मिलने हेतु ईमेल करने की सूचना प्रसारित की गई थी। इस सूचना का छात्र संघ ने पुरजोर किया। विश्वविद्यालय प्रशासन से छात्र संघ ने यह मांग किया है कि प्रसारित किए गए सूचना को तीन दिनों के अंदर विश्वविद्यालय वापस लें। अन्यथा कोल्हान विश्वविद्यालय की तालाबंदी फिर से की जाएगी।

संघ की मांगों को लेकर कोल्हान विश्वविद्यालय गंभीर नहीं

कोल्हान विश्वविद्यालय छात्रसंघ सचिव सुबोध माहाकुड़ ने कहा- विगत नौ मई के आंदोलन में विश्वविद्यालय प्रशासन ने यह सूचना को वापस एवं परिचय पत्र की अनिवार्यता को खत्म करने का लिखित आश्वासन दिया था। पर अभी भी विश्वविद्यालय प्रशासन उपरोक्त मांगों एवं इस मुद्दे को लेकर गंभीर नहीं है जिससे छात्र-छात्राओं में काफी आक्रोश है। विश्वविद्यालय प्रशासन से उन्होंने आग्रह किया है कि वे जल्द से जल्द छात्रों की जायज मांगों को सकारात्मक पहल करते हुए पूरा करने की दिशा में कदम उठाएं।

विश्वविद्यालय प्रशासन लिखित आश्वासन को हल्के में ले रहा

पीजी विभाग छात्रसंघ अध्यक्ष सनातन पिलवा ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन लिखित आश्वासन को हल्के में ले रहा। छात्र-छात्राओं में अपनी मूलभूत सुविधा तो मांगों को लेकर काफी आक्रोश है।विश्वविद्यालय प्रशासन उग्र आंदोलन से निपटने के लिए तैयार रहें । टाटा कालेज छात्रसंघ के विश्वविद्यालय प्रतिनिधि मंजीत हांसदा ने कहा कि कोल्हान विश्वविद्यालय के तमाम छात्र छात्राओं के साथ अन्याय हो रहा है और उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मांगों पर दिनों के अंदर अगर विश्वविद्यालय प्रशासन ठोस निर्णय नहीं लेती है तो हम सभी छात्र समुदाय उग्र आंदोलन एवं विश्वविद्यालय प्रशासन को तालाबंदी करने को बाध्य होंगे ।

Edited By: Jitendra Singh