चाईबासा (जागरण संवाददाता)। जमशेदपुर एंटी क्रप्शन ब्यूरो की टीम ने चाईबासा कोर्ट के पास से पश्चिमी सिंहभूम के सोनुवा थाना में पदस्थापित पुलिस अवर निरीक्षक घनश्याम दास को मंगलवार को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया।

पुलिस अवर निरीक्षक घनश्याम दास ने सोनुवा थाना निवासी शकुंतला देवी से केस को कमजोर करने और चार्जशीट में मदद करने के नाम पर एक लाख रुपये घूस की मांग की थी। इसमें 10 हजार रुपये पर राजी होने के बाद पैसा लेते हुए एसीबी ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया। टीम का नेतृत्व एसीबी के डीएसपी अरविंद कुमार सिंह कर रहे थे।

इस संबंध में जानकारी देते हुए एसीबी के डीएसपी अरविंद कुमार सिंह ने कहा कि सोनुवा थाना के देवादीर गांव निवासी शकुंतला पान ने पुलिस अधीक्षक, भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जमशेदपुर को लिखित आवेदन देकर शिकायत किया था कि देवर राकेश दास के विरुद्ध पश्चिम सिंहभूम जिला के सोनुवा थाना में दुष्‍कर्म का मामला दर्ज हुआ था। इस कांड के अनुसंधानकर्ता सोनुवा थाना के पुलिस अवर निरीक्षक घनश्याम दास के द्वारा केस कमजोर करने के तथा चार्जशीट में मदद करने के लिए एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग की गई थी जबकि शकुंतला पान रिश्वत नहीं देना चाहती थी।

उन्होंने कहा कि आवेदन के बाद लगाये गये आरोप के सत्यापन के लिए सत्यापनकर्ता पुलिस निरीक्षक भ्रष्टाचार निरीक्षक ब्यूरो पीर मोहम्मद को सौंपा गया। इसके बाद सत्यापनकर्ता ने आपने प्रतिवेदन में रिश्वत मांगने की बात को सही पाया गया तथा आरोपी द्वारा 10 हजार रुपये रिश्वत के रुप में लेकर कार्य करने पर सहमत हुए। सत्यापन करने के बाद मेरे नेतृत्व में गठित टीम के द्वारा 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए मंगलवार को पुअनि घनश्याम दास को रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। जिसका अनुसंधानकर्ता भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के पुलिस निरीक्षक ब्यास राम को बनाया गया है।

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस