चाईबासा, जासं। बुधवार देर रात हुई वर्षा के साथ आकाशीय बिजली गिरने से टोंटो पंचायत के टोपाबेड़ा गांव में पांडु लागुरी का एक बैल की मौत हो गई। सामने ही मौजूद घर में लगे सोलर प्लेट और सोलर जन मीनार क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे 10 से 15 परिवार को पानी की समस्या हो गई है। इस संबंध में जानकारी देते हुए मुखिया दीपिका लागूरी ने कहा कि बुधवार रात वर्षा के साथ आकाशीय बिजली गिरी। जिससे एक बैल की मृत्यू हो गई।

आकाशीय बिजली गिरने से जला सोलर पैनल

साथ ही गांव में लगे सोलर पैनल पूरी तरह जल गए हैं। खासकर गांव के लिए लगा सोलर जल मीनार भी पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है। जिससे लोगों को पानी की बड़ी समस्या होने लगी है। इसके लिए विभाग से संपर्क की गई है, लेकिन तत्काल लोगों को मदद पहुंचना संभव नहीं है। साथ ही आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हुई बैल की मौत को लेकर भी विभाग से बात हुई है। वहां से बैल मालिक को मुआवजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा। यह प्राकृतिक आपदा है और कहीं भी यह घट सकती हैं। उन्होंने कहा कि बरसात के मौसम में लोगों को इस से सतर्क रहना चाहिए।

अक्सर आकाशीय बिजली गिरने से होती है घटनाएं

आसमानी बिजली काफी खतरनाक होती है। खासकर ग्रामीण क्षेत्र के बैल बकरी चराने वाले और खेत में काम करने वाले लोग मौसम खराब होते ही पेड़ के नीचे शरण लेने पहुंच जाते हैं जो काफी खतरनाक है। अक्सर आकाशीय बिजली पेड़ पर ही गिरती है। जिससे पेड़ के नीचे मौजूद रहने वालों को खतरा होता है। इसलिए जब भी मौसम खराब हो तो वह तत्काल ही अपने घर की ओर चले जाएं । साथ ही अपने साथ लोहा के रखवाले छाता को ना रखें क्योंकि उनके संपर्क में भी आकाशी बिजली जल्दी आती है

Edited By: Madhukar Kumar