जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : आज मेरे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन है। अपने मुख्यमंत्री पिता के जीवन से प्रेरणा लेकर पीड़ित मानवता की सेवा के क्षेत्र में समर्पण नामक संस्था के माध्यम से कदम रख रहे हैं। देश के विकास में सामाजिक, आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक विकास का महत्वपूर्ण योगदान होता है। इसी सोच की उपज है 'समर्पण'। मैंने अपने पिता के जीवन को देखा है, पढ़ा है और समझने की कोशिश की है। मेरे पिता सक्रिय राजनीति में आने के पूर्व सामाजिक, अध्यात्मिक व सांस्कृतिक कार्यो में योगदान देते रहे। बाद के दिनों यानी सक्रिय राजनीति में आने के बाद भी अपने पुराने कार्यो से विमुख नहीं हुए। यह बातें राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास के पुत्र ललित दास ने रविवार को समर्पण नामक सामाजिक संस्था का शुभारंभ करते हुए कहीं।

साकची स्थित एक होटल में आयोजित इस कार्यक्रम में ललित दास ने कहा कि 'समर्पण' का एक ही मकसद है, समाज के गरीब तबके के लोगों की सेवा करना और सरकारी योजनाओं को गरीबों तक पहुंचाना। जब तक समाज का उत्थान नहीं होगा, तब तक गरीबी व बेरोजगारी दूर नहीं हो सकती। इसके लिए शिक्षित होना जरूरी है। ललित ने कहा कि संस्था में जन सहयोग के साथ ही वह अपने वेतन का कुछ अंश लगाएंगे। गरीब लड़कियों की शादी व उनकी पढ़ाई पर विशेष जोर दिया जाएगा। कार्यक्रम में समर्पण संस्था के संयोजक ललित दास, रूपेश कुमार साहू, देव कुमार, नीरज कुमार, अमित अग्रवाल के अलावा मुख्यमंत्री के आप्त सचिव मनिंदर चौधरी आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस