जमशेदपुर, जासं। कोरोना की वजह से कराह रहे जमशेदपुर के लोगों के लिए सोमवार को राहत की खबर आइ। शहर का होनहार मौत के मुंह से सुरक्षित निकल गया। उसकी जान बच गइ। यह अलग बात है कि उसका दो साथी मौत के मुंह में समा गया। चेकडैम में डूबने से बचा रोशन नाम का छात्र है तो बीएचयू में पढता था।

मिली जानकारी के अनुसार, सोमवार की शाम बीएचयू में पढ़ाई कर रहे मेडिकल के चार छात्र लतीफशाह बंधी (एक प्रकार का प्राकृतिक चेकडैम) में नहाते समय डूब गए। आपदा राहत टीम ने दो को बचा लिया, लेकिन दो छात्र अब भी लापता हैं। राहत और बचाव दल लापता छात्रों को ढूंढ़ रहा है। बीएचयू में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे कोलकाता के रहनेवाले विकास दत्त, सैनी (मथुरा) निवासी शिवम, नैनीताल के रहने वाले हर्षवर्धन और जमशेदपुर के रोशन कुमार सोमवार की शाम लतीफशाह बंधी पहुंचे थे। वे बंधी में स्नान करने लगे। इसी दौरान चारों गहरे पानी में डूबने लगे। यहाँ उपस्थित अन्य लोगों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। राहत व बचाव दल ने हर्षवर्धन और रोशन कुमार को तो बचा लिया लेकिन शिवम (मथुरा)और विकास दत्त (कोलकाता) लापता हैं। गोताखोरों की टीम गहरे पानी में डूबे लापता छात्रों को खोज रही है। अंधेरा हो जाने के कारण बचाव कार्य में दिक्कत हो रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप