चक्रधरपुर, जागरण संवाददाता। चक्रधरपुर रेल मंडल के लोटापहाड स्टेशन के पास नक्सलियों ने रेलवे स्लीपर को बम से उडा दिया जिसके कारण हावड़ा-मुंबई मार्ग पर रेल परिचालन बाधित है। कई सवारी गाडियां चक्रधरपुर स्टेशन पर खडी है वही लंबी दूरी की ट्रेनें भी जहां-तहां फंसी हैं। घटना स्थल पर आरपीएफ के कमांडेंट ओंकार सिंह, आरपीएफ थाना प्रभारी बीके सिन्हा, टीपी सोरेन, कोरस कमांडो आरपीएफ जवानों के साथ मामले की जांच करने पहुचे हैं।

दरअसल, नक्सलियों के चौबीस घंटे का भारत बंद शुरू हो चुका है। भाकपा माआेवादी के केंद्रीय कमेटी व पोलित ब्यूरो सदस्य तथा पूर्वी रीजनल ब्यूरो सचिव किसन दा उर्फ प्रशांत बोस और केंद्रीय कमेटी सदस्य शीला मरांडी समेत छह की गिरफ्तारी के खिलाफ पांच दिवसीय प्रतिरोध दिवस और एकदिवसीय भारत बंद का आह्रवान किया गया है। नक्सलियों का शनिवार को 24 घंटे भारत बंद है। इसी क्रम में रेलवे को निशाना बनाया गया है। चक्रधरपुर रेल मंडल में जिस स्थान पर रेलवे स्लीपर को उडाया गया है वहां बैनर भी टांग दिया गया।

अप और डाउन रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त

नक्सलियों ने बीती रात को रेलवे ट्रैक में ब्लास्ट किया जिसमें अप और डाउन दोनों रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गया है। लोहे की रेल पटरी भी टेढ़ी हो गयी है। ब्लास्ट इतना जोरदार था कि रेलवे पटरी के नीचे एक से डेढ़ फीट गड्ढा हो गया है। रात से हावड़ा-मुंअई रेलमार्ग पर ट्रेनों का परिचालन हुआ ठप हो गया है। फिलहाल चक्रधरपुर, सोनुआ, राजखरसावां आदि स्टेशनों में कई मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों को रोक दिया गया है। रेलकर्मी दोनों रेलवे ट्रैक को दुरुस्त करने का काम कर रहे हैं।

Edited By: Rakesh Ranjan