सरायकेला (जागरण संवाददाता)। सरायकेला खरसावां जिला के खरसावां थाना अंर्तगत हुडंगा में सोमवार की सुबह सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ खत्‍म होने के बाद सर्च अभियान चलाया जा रहा है। महज सौ मीटर की दूरी से आमने-सामने हुई इस मुठभेड़ में पांच नक्‍सलियों के मारे जाने की खबर है जबकि सुरक्षा बलों के तीन जवान जख्‍मी हुए हैं। नक्‍सलियों के मारे जाने के बारे में पूछे जाने पर पुलिस अधीक्षक चंदन कुमार सिन्‍हा ने पुष्टि तो नहीं की लेकिन इतना जरूर कहा कि नक्‍सलियों को भारी नुकसान पहुंचा है और सर्च अभियान अभी जारी है। सुरक्षा बलों के जवानसाथ मिलकर पुलिस पूरे इलाके में सघन सर्च ऑपरेशन चला रही है। गंभीर रूप से घायल जवान कृष्‍णा कुदादा को हेलीकॉप्‍टर से रांची ले जाया गया है। 

सैकड़ों नक्‍सलियों ने पुलिया पर विस्‍फोट के बाद चलाईं गोलियां

सोमवार की सुबह करीब नौ बजे खरसावां थाना क्षेत्र के हुडंगड़ा गांव के समीप नक्सलियों ने सड़क पर बनी पुलिया के पास विस्फोट कर दिया। विस्फोट के तुरंत बाद नक्सलियों ने फायरिंग भी शुरू कर दी। इसमें पुलिस के तीन जवान घायल हो गये। जानकारी के अनुसार, जिला पुलिस, सीआरपीएफ और सैफ के जवान जंगल में लांग रेंज पैट्रोलिंग (एलआरपी) के लिए गाड़ी से जा रहे थे। जैसे ही जवानों का दल हुडंगड़ा पुलिया के पास पहुंचा, अचानक विस्फोट हुआ। घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने विस्फोट के तुरंत बाद जवानों पर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। नक्सलियों की गोलीबारी का जवानों ने करारा जवाब दिया। दोनों ओर से लगभग आधा घंटा तक गोलीबारी होती रही। इस दौरान सैफ के दो जवान घायल हो गए। इनके नाम हरि राम सिंह और माखनलाल सिंह हैं। इन्हें सरायकेला सदर अस्पताल लाया गया, जहां से बेहतर इलाज के लिए जमशेदपुर भेज दिया गया। घायल तीसरे जवान का नाम कृष्णा कुदादा है।

वह पश्चिमी सिंहभूम जिले का रहने वाला है। जिला बल में तैनात कृष्णा कुदादा विस्फोट के बाद पत्थर छिटकने घायल हुआ है। उसके कान और सिर में चोट लगी है। घायल कृष्णा को खरसावां सीआईएचसी पहुंचाया गया। यहां प्राथमिक इलाज के बाद उसे रांची रेफर कर दिया गया। कृष्णा को हेलीकॉप्टर से रांची भेज दिया गया। इसके बाद पूरे इलाके की घेराबंदी करके पुलिस ने सुरक्षा बल के जवानों के साथ मिलकर इलाके में सघन सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है। पुलिस का मानना है कि गोलीबारी में नक्सलियों को भारी नुकसान पहुंचा है। घटना के बाद एसडीपीओ अविनाश कुमार और एसपी

(अभियान) विवेकानंद के नेतृत्व में सघन अभियान चलाया जा रहा है। वहीं, घटना की सूचना मिलने के बाद एसपी चंदन कुमार सिन्हा भी घटनास्थल पर पहुंच गये हैं।

ब्‍लास्‍ट कर गाड़ी उड़ाने की थी योजना

नक्‍सलियों की योजना बम विस्‍फोट कर जवानों की गाड़ी को उड़ाने की थी। सुबह शुरू डैम के पास जंगल होकर जवानों से भरी गाड़ी गुजर रही थी। उसी दौरान नक्सलियों ने गाड़ी को ब्लास्ट कर उड़ाने की कोशिश की। हालांकि गाड़ी बाल-बाल बच गई। बाद में नक्सलियों ने गाड़ी पर अंधाधुंध फायरिंग भी की। बदले में जवानों ने भी फायरिंग का जवाब दिया। गाड़ी में 12 जवान मौजूद थे। सदर अस्पताल में घायल हरी राम सिंह ने बताया की जैसे ही उन लोगों की गाड़ी हुडंगड़ा गांव के समीप बनी पुलिया के पास पहुंची उसी समय जोरदार धमाका हुआ और चारों ओर अंधेरा छा गया और कुछ नही दिखाई दे रहा था। धमाका के बाद नक्सली ताबड़तोड़ गोलीबारी करने लगे हम लोग भी नक्सलियों के गोली जवाब गोली से देने लगे। उन्होने बताया कि गोलीबारी में नक्सलियों को भारी नुकसान पहुंचा है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस