संवाद सूत्र, धालभूमगढ़ : भाजपा ग्रामीण जिला अध्यक्ष सौरभ चक्रवर्ती के नेतृत्व में भाजपाइयों ने चाकुलिया मोड़ पर घाटशिला के विधायक रामदास सोरेन का पुतला दहन किया। सौरव चक्रवर्ती ने कहा कि हेमंत सोरेन सरकार के झूठे वादे एवं आंध्र प्रदेश में फंसे मजदूरों के लिए कोई कदम नहीं उठाने के विरोध में विधायक का पुतला दहन किया गया। उन्होंने कहा कि एक और सरकार आपके द्वार कार्यक्रम से अपनी उपलब्धियां गिना रही है दूसरी और क्षेत्र से हजारों की संख्या में मजदूर एवं नाबालिग काम के लिए दूसरे प्रदेशों में पलायन कर रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि उन्हें यहां रोजगार नहीं मिल रहा है। जबकि सरकार झूठे वादे कर रोजगार उपलब्ध कराने के बात कर रही है। घाटशिला विधानसभा क्षेत्र में लगातार माइंस बंद हो रही है लेकिन विधायक मौन साधे हुए हैं। सरकार आपके द्वार कार्यक्रम में पिछली बार दिए गए आवेदनों का ही निष्पादन नहीं हुआ है फिर नए आवेदन लेकर लोगों को झांसे में रखा जा रहा है। इस मामले को लेकर उपायुक्त एवं एसडीओ से भाजपा का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा। इस मौके पर अजय साहा, विमल कालिदी, अनिल साव, गौतम बेहरा, निरंजन रथ, दिलीप चक्रवर्ती, पूर्णिमा चक्रवर्ती, सुरेश माहली, संटू विश्वास, राखो नामाता, श्रवण सिंह, विनोद सिंह, असीम दास, विश्वनाथ दास, नोशाद आदि उपस्थित थे। इचड़ा पंचायत में हो रहा घटिया तरीके से पेर्वस ब्लॉक का काम : उत्तरी इचड़ा पंचायत अंर्तगत धर्मडीह स्थित मस्जिद के पीछे मकसुद आलम के घर से मो. इस्लाम के घर तक पेवर्स ब्लॉक का निर्माण कार्य काफी घटिया तरीके से किया जा रहा हैं। यहां तक की योजना का शिलापट्टं पर मजदूरी दर, लाभुक समिति के सदस्य समेत अन्य नामों को अंकित भी नही किया गया हैं। पेवर्स ब्लॉक बिना बालू फिलिग किए ही डस्ट के माध्यम से डाला जा रहा है जिससे पेवर्स ब्लॉक जगह-जगह उखड़ने लगा है और सही तरीके से बैठ नही पा रहा है। वहीं पेवर्स ब्लॉक भी काफी घटिया किस्म का लगाया जा रहा है। कई जगह अभी से ही टूट गया हैं। कार्य के दौरान मजदूरों ने बताया कि ठेकेदार द्वारा कहे जाने पर इस तरह का कार्य किया जा रहा हैं। इस योजना का प्राक्कलित राशि 2,49,900 है, योजना वर्ष 2021-22, योजना संख्या 4/2021-22 हैं। वही इस संबंध में पंचायत सचिव करण सोरेन ने कहा कि डस्ट डाले जाने की जानकारी मिली है, गुरुवार को जांच की जाएगी। वहीं जेई संदीप कुमार मुर्मू ने कहा कि वे अभी नए हैं। उन्हे इस मामले की पूरी जानकारी नही है कि कार्य में क्या उपयोग किया जाता है।

Edited By: Jagran