जमशेदपुर, जेएनएन। झारखंड सरकार की ओर से आयुष्मान योजना के तहत आयुष्मान गोल्डन कार्ड का वितरण किया जा रहा है। इसका मुख्य कार्यक्रम बिष्टुपुर स्थित माइकल जॉन आडिटोरियम में हुआ जिसमें झारखंड सरकार के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कार्ड का वितरण किया।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रथम पुण्यतिथि पर आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने के लिए गोल्डन कार्ड बनाने का अभियान पूरे राज्य में शुरू किया गया है। बिना कोई शुल्क दिए, प्रज्ञा केंद्र एवं स्वास्थ्य केंद्र में अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं। इस अभियान के तहत 25 सितंबर 2019 तक 2 करोड़ 45 लाख लोगों का कार्ड बनाने का लक्ष्य है।

झारखंड की धरती से हुई थी आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत 23 सितंबर 2018 को झारखंड की राजधानी रांची से हुई थी। झारखंड में 57 लाख परिवारों को योजना का लाभ दिया जा रहा है। यह राज्य की आबादी का 85 प्रतिशत है। इस योजना के तहत सभी तरह की बीमारियों का इलाज के राज्य के 647 और देशभर के 16 हजार सूचीबद्ध अस्पतालों में किया जा सकता है। झारखंड में अबतक दो लाख 26 हजार लोग इस योजना का लाभ लेकर इलाज करा चुके हैं। इलाज पर 206 करोड़ रुपये खर्च किए गए है।

 

Posted By: Rakesh Ranjan