जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : महात्मा गांधी मेमोरियल (एमजीएम) मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में जल्द ही 100 से अधिक सफाई कर्मियों की बहाली की जाएगी। भवन निर्माण विभाग ने एमजीएम प्रबंधन को अस्पताल के कार्पेट एरिया (जगह की मापी) की रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में अस्पताल का कार्पेट एरिया आठ लाख स्क्वायर फीट बताया गया है। इसके अनुसार एमजीएम में करीब 100 से अधिक सफाई कर्मियों को रखा जाएगा। फिलहाल 40 सफाई कर्मी ही तैनात हैं। इससे पूर्व 120 सफाई कर्मी थे। इनमें से 80 कर्मचारियों विभाग ने हटा दिया था। इसके बाद से सफाईकर्मी आंदोलन कर रहे थे। सफाई कर्मियों के मुताबिक उनकी संख्या घटा देने से काफी परेशानी हो रही है। एक शिफ्ट में 10 सफाई कर्मी के भरोसे इतना बड़ा अस्पताल नहीं चल सकता है। अब विभाग ने कारपेट एरिया के हिसाब से नए कर्मचारियों की बहाली के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दिया है।

----------------

ड्रेस कोड में होंगे सफाई कर्मी

आउटसोर्स पर बहाल होने वाले सभी कर्मियों को ड्रेस कोड का पालन करना होगा। वहीं श्रमिक कानून का पालन भी सख्ती से किया जाएगा। इसकी निगरानी एमजीएम अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. नकुल प्रसाद चौधरी करेंगे। एक कर्मचारी से आठ घंटा ही काम लिया जा सकता है। अगर कोई कर्मचारी ज्यादा देर तक काम करता है तो उसे अतिरिक्त भत्ता दिया जाएगा। इसके साथ ही पीएफ, मेडिकल सहित अन्य सुविधाएं भी मिलेगी। फिलहाल इसे लेकर भी कर्मचारियों की शिकायत रहती है, जो अब नहीं रहेगी।

--------------

आइसीयू, इमरजेंसी, लेबर रुम में 24 घंटे होंगे सफाई कर्मी

अभी सफाई कर्मियों की कमी होने के कारण अस्पताल में जहां-तहां गंदगी रहती है। आगे की योजना अस्पताल को चकाचक रखने की है। इसके लिए आइसीयू, इमरजेंसी, महिला एवं प्रसूति रोग के इमरजेंसी, एनआइसीयू-पीआइसीयू में 24 घंटे सफाई कर्मी मौजूद रहेंगे। ताकि बेहतर साफ-सफाई हो सके। गंदगी होने की वजह से इंफेक्शन फैलने की संभावना अधिक रहती है। वहीं खुला एरिया में शिफ्ट अनुसार कर्मियों की तैनाती होगी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस