जमशेदपुर : आज के समय में हर माता-पिता अपने बच्चों का दिमाग तेज होना पसंद करते हैं। इसके लिए कई लोग तो डॉक्टर से सलाह भी लेते हैं। लेकिन, हम आपको एक खास टिप्स बता रहे हैं जिसका सेवन कर आप अपने बच्चे का दिमाग कंप्यूटर की तरह तेज कर सकते हैं। दरअसल, इसके लिए बच्चों के डाइट में कुछ बदलाव करने की जरूरत होती है। एमजीएम अस्पताल की डायटीशियन अनु सिन्हा का कहना है कि अगर बच्चों के दिमाग (ब्रेन) को भरपूर पोषण मिलेगी तो उनका दिमाग अपने आप ही तेज हो जाएगा। इसके लिए डाइट में यह पांच चीज को जरूर शामिल करें।

अंडे का सेवन : अंडा सेहत के लिए काफी लाभदायक माना जाता है। यह दिमाग के लिए भी काफी अच्छा होता है। दरअसल, इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड, ल्यूटिन, कोलिन और जिंक होता है। ये सभी पोषक तत्व शिशु की ध्यान लगाने की क्षमता को बढ़ाते हैं। कोलिक एसिटेकोलिन या मेमोरी स्टेम सेल्स बनाने में मदद करता है।जिससे बच्चे का याददाश्त बढ़ता है।

साबुत अनाज का सेवन : बच्चों के लिए साबुत अनाज काफी अच्छा होता है। यह बच्चों के दिमाग का एनर्जी बढ़ाने का काम करता है।साथ ही ये रक्त वाहिकाओं में ग्लूकोज को धीरे से रिलीज करता है और इसमें फोलिक एसिड भी होता है। जिससे मस्तिष्क के सही तरह से कार्य करने की क्षमता भी बढ़ता है।

ओट्स का सेवन : ओट्स में कई तरह के विटामिन होता है। इसमें विटामिन-ई, जिंक और विटामिन-बी शामिल है। इसके अलावा फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है। जिससे शिशु के शरीर को एनर्जी मिलता है। एेसे में बच्चों को नाश्ता में ओट्स जरूर दें। इससे मस्तिष्क विकास होता है।

मछली का सेवन : अक्सर देखा जाता है कि बच्चों का दिमाग तेज करने के लिए लोग उसे मछली देते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, यह सही भी है। मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो मिस्तिष्क के ऊतकों के ब्लॉक बनाने में मदद करता है। साथ ही बच्चों के दिमाग भी तेज होता है।

हरी सब्जियों का सेवन : सेहत के लिए हरी सब्जी खाना काफी जरूरी होती है।यह शरीर के सभी अंगों को लाभ पहुंचाता है। इसमें दिमाग भी एक है। पालक, केले, ब्रोकोली और अन्य पत्तेदार हरी सब्जियां खाने से दिमाग तेज होता है। ये सभी एंटीअॉक्सिडेंट से भरे होते हैं, जो मस्तिष्क को तेज करने का काम करता है।

Edited By: Jitendra Singh