जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : कोल्हान विश्वविद्यालय में नियमावली समिति एवं सिडिकेट की आपातकालीन बैठक आनलाइन आयोजित हुई। पहले नियमावली समिति ने अल्पसंख्यक महाविद्यालय के शिक्षक-शिक्षकेत्तर कर्मचारियों से संबंधित संशोधन के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई। इसके तहत अल्पसंख्यक महाविद्यालयों के ऐसे शिक्षक एवं शिक्षिकेतर कर्मी जिनकी नियुक्ति 2004 से पहले हुई थी और 2012 से पूर्व सेवानिवृत्त हो गए। उन्हें भी पेंशन एवं ग्रेच्यूटी का लाभ मिल पाएगा। इसके बाद के शिक्षकों को यह लाभ प्राप्त हुआ। नियमावली समिति के पारित प्रस्ताव को सिडिकेट में विचारार्थ रखा गया। सिडिकेट के सदस्यों द्वारा प्रस्ताव के औचित्य से संबंधित कई प्रश्न किए गए, जिसका कुलसचिव एवं कुलानुशासक ने जवाब दिया तथा विवरण प्रस्तुत किया। इसके संशोधित नियमावली को सिडिकेट ने पारित किया। इस प्रस्ताव को उच्च शिक्षा विभाग को भेजा जाएगा। वहां नियमावली में संशोधित स्वरूप में दर्ज कर राज्य सरकार को भेजा जाएगा। इस बैठक की अध्यक्षता प्रतिकुलपति डा. अरुण कुमार सिन्हा ने किया। बैठक में कुलसचिव जयंत शेखर, कुलानुशासक डा. एसके झा, प्रिसिपल डा. अमर सिंह, एमके मिश्रा, प्रभा खलको, जेबी तुबिद, राजेश शुक्ला, मनोज कुमार सिंह, अमिताभ सेनापति, गुहाराम उपस्थित थे। -------------- करीम सिटी में 38 शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी को होगा लाभ जासं, जमशेदपुर : कोल्हान विश्वविद्यालय में एकमात्र अल्पसंख्यक कालेज के रूप में करीम सिटी कालेज हैं। इस कालेज के 38 शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मी को इसका लाभ मिलेगा। इस नियुक्ति तिथि से सेवानिवृत्त होने के बाद यहां के शिक्षकों एवं कर्मियों को लाभ नहीं मिला था। कालेज के प्रभारी प्राचार्य मो. रेयाज ने निर्णय का स्वागत किया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस