जमशेदपुर, जासं। कोल्हान विश्वविद्यालय ने 12 जून को यूजी पांचवें सेमेस्टर का रिजल्ट जारी कर दिया। बताया जा रहा है कि रिजल्ट को लेकर कॉलेजों से इंटरनल माक्र्स भेजी ही नहीं। ऐसे में इस रिजल्ट को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।

पांचवे सेमेस्टर के रिजल्ट में कई गड़बड़ियों की बात सामने आ रही है। अब इस रिजल्ट में सुधार तथा फिर से मूल्यांकन की मांग उठने लगी है। इस मामले को लेकर ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन जमशेदपुर वर्कर्स कॉलेज इकाई द्वारा विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक को ज्ञापन सौंपा गया। कॉलेज सचिव कामेश्वर प्रसाद ने कहा कि कोल्हान विश्वविद्यालय द्वारा विगत 12 जून को यूजी पांचवें सेमेस्टर का मार्कशीट जारी किया गया। इसमें महाविद्यालय से बिना इंटरनल मार्क्स लिए विश्वविद्यालय ने अपने मनमानी के आधार पर इंटरनल मार्क्स देकर रिजल्ट जारी कर दिया।

ये भी आपत्ति

कहा कि रिजल्ट में काफी गड़बड़ी देखने को मिली है। देखा गया है कि छात्र- छात्राओं को उनके पूर्व सेमेस्टर में जो मार्क्स मिले थे, उससे भी कम मार्क्स पांचवें सेमेस्टर में मिले। एक तरफ परीक्षा ना होना और दूसरी तरफ पिछले सेमेस्टर के अंकों के आधार पर छात्र-छात्राओं को प्रमोट करना समझ से परे है। विश्वविद्यालय की इस मनमानी रिजल्ट से छात्र असंतुष्ट हैं। इसलिए रिजल्ट का सही मूल्यांकन करें और रिजल्ट को जल्द से जल्द जारी करे अन्यथा छात्र समुदाय आंदोलन को बाध्य होगा इसकी जिम्मेदारी विश्वविद्यालय प्रशासन की होगी। ज्ञापन सौंपने में रानी,मेघा, प्रीति,बंदना, आंचल, झुंपा,नेहा, सोनी, लक्ष्मी, पूजा, रिंकू आदि छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

इंटरनल माक्र्स वर्कर्स कॉलेज का पीछा नहीं छोड़ रहा

इंटरनल माक्र्स से वर्कर्स कॉलेज से पुराना नाता है। कई परीक्षाएं ऐसी हैं जिसमें इस कॉलेज के छात्रों के इंटरनल नंबर विश्वविद्यालय नहीं जोड़ता। बाद में कॉलेज के प्राचार्य द्वारा इस संबंध में विश्वविद्यालय द्वारा पत्राचार किया जाता है। वाबजूद इसके यह अंत तक नहीं जुड़ता। इंटरनल माक्र्स को लेकर कॉलेजों में कई छात्र संगठन आंदोलन भी कर चुके हैं।

Edited By: Rakesh Ranjan