जासं, जमशेदपुर : इंडियन सुपर लीग का एक और मैच बुधवार को जेआरडी के स्पोटर््स के मैदान में। यह मैच केरला ब्लास्टर्स और जमशेदपुर एफसी की टीम के बीच खेला गया। ठंड के कारण इस मैच को देखने के लिए दर्शकों की कमी आई, लेकिन उत्साह में कोई कमी नहीं आयी। जहां 25 हजार टिकट बिकते थे, इस मैच के लिए मात्र 18 हजार ही टिकट बिके। इस मैच को देखने के लिए दर्शकों का उत्साह का ज्वार ठंड में भी कम नहीं हुआ। छोटे-छोटे बच्चों को लेकर माताएं भी इस मैच को देखने पहुंची। अपने बच्चेों को पूरी तरह ढंककर मैच का आनंद लिया।

शाम के सात बजे के बाद जेआरडी के सामने वाली सड़क पर दर्शकों की संख्या ज्यादा देखी गई। इस मैच के लिए लंबी कतारें नहीं दिखी। अपने चहेते जमशेदपुर की टीम जमशेदपुर एफसी का उत्साहवर्धन करने के लिए लोग आतुर दिखाई पड़ रहे थे।

----------------

एल्हा विदा विजया आश्मासा केरला ब्लास्टर्स

केरला ब्लास्टर्स का मैच हो और जमशेदपुर में रहने वाले मलयाली समाज के दर्शक न पहुंचे यह हो नहीं सकता। एक साथ 70-80 के ग्रुप में मलयाली समाज के सदस्यों ने पूरे मैच का आनंद लिया और अपनी टीम केरला ब्लॉस्टर्स का समर्थन एल्हा विदा विजया आश्मासा केरला ब्लास्टर्स (हम तुम्हारे साथ है केरला ब्लास्टर्स) का नारा लगाकर किया। इस टीम का नेतृत्व रॉबिन व विनोद ने किया। केरला ब्लास्टर्स का मैच देखने के लिए शहर के मलयाली समाज के सदस्यों ने बैठकर निर्णय लिया था, इस कारण हम मैच देखने आये है। केरल की टीम का हमने उत्साह वर्धन भी किया।

---------------

परिवार संग लिया आनंद

जेआरडी में आइएसएल का मैच देखने के सैकड़ों ऐसे परिवार दिखे जो अपने पूरे परिवार के साथ मैच देखने के लिए पहुंचे थे। सिर्फ यही नहीं परिवार का प्रत्येक सदस्य जेएफसी के रंग में रंगा हुआ दिखा।

----------------

सड़क बंद न होने से हुई परेशानी

जेआरडी के सामने सड़क को वनवे कर दिए जाने के कारण आने-जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। खासकर रैस ड्राइविंग से। यह सड़क पूरी तरह बंद रहती है, लेकिन बुधवार को कम भीड़ को देखते हुए एक तरफ से सड़क को खोल दिया गया।

-------------

हेलमेट रखने को लेकर परेशान दिखे दर्शक

आइएसएल का मैच देखने आए सैकड़ों दर्शक हेलमेट को लेकर परेशान दिखे। वे अपने बाइक चलाकर मैच देखने तो पहुंचे, लेकिन हेलमेट रखने की व्यवस्था न होने के कारण उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा। एक दर्शक अमित ने बताया कि अब यह हेलमेट कहां रखे समझ में नहीं आ रहा है। अब लगता है बिना मैच देखे ही यहां से जाना पड़ेगा।

-------------

-ठंड में मैच देखने का अलग ही मजा है। आशा करता हूं कि यह मैच जेएफसी जीत जाए। जीतने पर मेरा आना सार्थक हो जाएगा।

-क्रिसटल मुखी

-------------

-फुटबाल का मजा लूंगा। जेएफसी का मैच देखने का पहला मौका मिला है। इसे मैं छोड़ना नहीं चाहता था। इस कारण मैं अपनी दोस्त के साथ मैच देखने आया हूं। - नील राज, बर्मामाइंस।

------------

-फुटबाल का क्रेज देखकर अच्छा लगा। हम मलयाली समाज के लोग केरला ब्लास्टर्स का समर्थन करने आए हैं। मैच का आनंद लूंगा। -मुरलीधर, साकची।

---------------

-जमशेदपुर एफसी की जीत के लिए स्टेडियम के अंदर जा रहा हूं। टीम जीतती है तो ठीक है, लेकिन हार जायेगी तो अच्छा नहीं लगेगा।

-अनुकूल, बारीडीह।

---------------

-इस रोमांच से मैं खुद को अलग नहीं सकती। इस कारण मैं अपने पूरे परिवार के साथ मैच देखने आई हूं। जमशेदपुर को जीतते हुए देखना चाहती हूं। -सोमा बोस, धालभूमगढ़।

-------------

-मैच देखने के लिए हेलमेट लेकर आया था। यातायात नियमों के कारण अब बिना हेलमेट के कही आ जा नहीं सकते। ऐसे में आयोजकों को हेलमेट रखने की व्यवस्था होनी चाहिए। -संजय कुमार, बागबेड़ा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस