वेंकटेश्वर राव/पार्थ परिडा, जमशेदपुर : एक ओर जहां मुखिया बनने के लिए मारामारी होती है, वहीं पूर्वी सिंहभूम जिला का एक पंचायत ऐसा है जहां एक मुखिया निर्विरोध चुना गया है। यह पंचायत बहरागोड़ा प्रखंड में है। पंचायत का नाम है ब्राह्मणकुंडी। यह पंचायत बहरागोड़ा प्रखंड मुख्यालय से 22 किलोमीटर दूर पश्चिम बंगाल की सीमा से सटा हुआ है। यहां के मुखिया का नाम है रंजीत सिंह। वे अनुसूचित जनजाति वर्ग से आते है। रंजीत सिंह पूरे बहरागोड़ा प्रखंड में सादगी के प्रतीक हैं, जो सादा जीवन व्यतीत करते हैं। रंजीत सिंह खुद एक बार मुखिया रहे हैं, जबकि एक बार उनकी पत्नी मुखिया पद पर चुनाव जीत चुकी हैं। इसके बावजूद उनका परिवार आज भी सादगी का जीवन जी रहा है।

आज भी वे लोग एसबेस्टस के झोपड़ीनुमा घर में रहते हैं। ये पूरे बहरागोड़ा प्रखंड में एकमात्र मुखिया प्रत्याशी हैं, जो अपने आप में मिसाल हैं। मुखिया प्रत्याशी के चयन से पहले सभी गांव में अलग-अलग बैठक हुई। सभी गांवों से ग्रामीणों ने मुखिया प्रत्याशी के रूप में रंजीत सिंह के नाम का प्रस्ताव पारित कर दिया गया। इस कारण पंचायत के किसी भी सदस्य ने मुखिया पद के लिए नामांकन नहीं किया।

17 वोट से हराकर पहली बार मुखिया बने थे रंजीत

बहरागोड़ा प्रखंड के ब्राह्मणकुंडी पंचायत से 2010 में मुखिया प्रत्याशी का चुनाव रंजीत सिंह ने लड़ा था। इस चुनाव में उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंती को 17 वोट से हराया था। उन्होंने पांच वर्ष तक सकुशल मुखिया का कार्यकाल पूरा किया। इस दौरान किसी तरह के आरोप भी नहीं लगे। ग्रामीणों की हर समस्या का समाधान का प्रयास किया। 2015 के चुनाव में उनकी पत्नी शकुंतला सिंह चुनाव लड़ी। उन्होंने भी अपने प्रतिद्वंदी को 500 मतों से हराया और मुखिया बनी। उन्होंने भी अपने पूरे कार्यकाल निर्वहन किया। इस बार 2022 के मुखिया चुनाव में रंजीत सिंह ने पंचायत की सर्वसम्मति से दोबारा नामांकन किया और वे निर्विरोध चुने गए।

एसबेस्टस का है झोपड़ीनुमा घर

रंजीत सिंह एक साधारण सीधे साधे व्यक्ति है। मुखिया के स्तर से होने वाले समस्याओं का समाधान करने में उन्होंने किसी भी ग्रामीण को परेशान नहीं किया। हमेशा ग्रामीणों के सुख दुख में आगे खड़े रहे। उनका परिवार एजबेस्टस के झाेपड़ीनुमा घर में रहता है। हाल ही में उनके परिवार को प्रधानमंत्री आवास भी मिला है। रंजीत निस्वास्र्थ भाव से लोगों की सेवा करते हैं। वे आज के जमाने के मुखिया से बिलकुल अलग है। इस कारण लोग भी उनका खुलेमन से सहयोग करते हैं।

पंचायत के 14 गांव के लोगों का जताया आभार

निर्विरोध मुखिया चुने जाने पर मुखिया रंजीत कुमार सिंह ने ब्राह्मणकुंडी पंचायत के आम जनता के प्रति उन्होंने आभार प्रकट किया है। उन्होंने पंचायत के 14 गांव के लोगों के प्रति आभार जताते हुए कहा कि आम जनता ने उन्हें निर्विरोध चुनाव जीता कर उनकी सेवा के लिए इस कुर्सी पर आसीन किया है। वे ग्रामीणों का भरोसा नहीं टूटने देंगे। पंचायत को सबों के सहयोग से सशक्त पंचायत के रूप में उभारने की पूरी कोशिश वे अपने स्तर से करेंगे। इस क्रम में प्रशासन का भी सहयोग लिया जाएगा।

बागबेड़ा पूर्वी की निर्विरोध पंसस बनी सुनीता

जमशेदपुर के बागबेड़ा पूर्वी की पंचायत समिति सदस्य के रूप में शहरी क्षेत्र के लोगों ने सुनीत देवी को भी निर्विरोध प्रत्याशी चुना है। इससे पूर्व वे दो बार निर्वाचित हुई थी। तीसरी बार इस पंचायत से पंसस के लिए दो महिलाओं ने नामांकन किया। एक ने नाम वापस ले लिया।

Edited By: Sanam Singh