जमशेदपुर, जासं। कोरोना को लेकर झारखंड में लागू आंशिक लॉकडाउन के मद्देनजर अनलॉक-2 के संबंध में नौ जून को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने नाई समाज के बारे में ऐसी बात बोल दी थी, जिसे भाजपा समेत नाई समाज ने भी मुद्दा बना लिया था। सभी ने स्वास्थ्य मंत्री से तत्काल सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने को कहा था। इस पर बन्ना गुप्ता ने माफी मांग ली है।

आप भी देखिए ट्विटर पर उन्होंने क्या कहा ‘मेरे नाई समाज के तमाम सम्मानित साथियों, मैं सभी सैलून संचालकों का सम्मान करता हूं। मैंने आर्थिक स्थिति से जूझ रहे सैलून के साथियों को राहत पहुंचाने के लिए माननीय मुख्यमंत्री जी से लॉकडाउन में क्रम में सैलून को खोलने का आग्रह किया था और माननीय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी ने मेरे आग्रह को स्वीकार कर सभी प्रकार के सैलून को इस अनलॉक के क्रम में खुलवाया, ताकि आप भाइयों को राहत मिल सके। बधाई देने के क्रम में मुझसे गलती से बोलचाल की आम भाषा ही मेरे मुंह से निकल आया, लेकिन मैंने तुरंत अपने शब्दों को बदल दिया। लेकिन मुझे पता है कि मेरे सामाजिक न्याय के सभी साथियों और समाज के तमाम लोगों को इस बात से दुख पहुंचा होगा। इसके लिए मैं सहृदय क्षमाप्रार्थी हूं। मैं आपका हमेशा हितैषी रहा हूं और भविष्य में भी रहूंगा...’

भाजपा ओबीसी मोर्चा के नेता ने सबसे पहले किया था विरोध

स्वास्थ्य मंत्री के नाई समाज को संबोधित शब्द नऊआ को लेकर सबसे पहले भाजपा, जमशेदपुर महानगर के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रसाद ने विरोध जताया था। उन्होंने तत्काल स्वास्थ्य मंत्री के बयान का वीडियो टैग करते हुए कहा कि बन्ना गुप्ता को सार्वजनिक रूप से माफी मांगनी चाहिए। एक मंत्री को ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना शोभा नहीं देता। इसके बाद तो नाई समाज के लोग भी सामने आने लगे। भाजपा, जमशेदपुर महानगर के पूर्व जिलाध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने कहा कि बन्ना गुप्ता जब से मंत्री बने हैं, तब से विवाद में घिर जा रहे हैं। कभी इनके लोग सरकारी काम में बाधा उत्पन्न करते हैं, तो कभी ये खुद बिना सोचे-समझे कुछ भी बोल देते हैं। अब चूंकि बन्ना गुप्ता ने ट्विटर पर सार्वजनिक रूप से माफी मांग ली है, लिहाजा यह उम्मीद की जा रही है कि इस विवाद का यहीं अंत हो जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप