जमशेदपुर, जागरण संवाददाता। झारखंड राज्य चतुर्थवर्गीय सरकारी कर्मचारी संघ के बैनर तले मंगलवार से पूरे राज्य में मुंह पर काला पट्टी बांधकर चतुर्थवर्गीय कर्मचारी प्रदर्शन करेंगे । इसकी सूचना पूर्वी सिंहभूम जिले के उपायुक्त व एसडीओ को भी दी गई है। संघ के अध्यक्ष प्रभात गुप्ता ने बताया कि पूरे राज्य में कार्यरत चतुर्थवर्गीय कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर मंगलवार को दोपहर दो से तीन बजे तक साकची स्थित झामुमो कार्यालय के समीप प्रदर्शन करेंगे।

इस दौरान कोविड नियमों का पालन सख्ती से किया जाएगा। वहीं, झारखंड राज्य चिकित्सा संघ के महामंत्री अमरनाथ सिंह ने बताया कि राज्य सरकार के तमाम विभागों में कार्यरत नियमित चतुर्थवर्गीय कर्मी को लिपिकों की भांति 50 प्रतिशत कनीय चतुर्थवर्गीय कर्मी, 30 प्रतिशत वरीय चतुर्थवर्गीय कर्मी, 10 प्रतिशत चतुर्थवर्गीय कर्मी, 5 प्रतिशत प्रधान चतुर्थवर्गीय कर्मी, 5 प्रतिशत विशेष प्रधान चतुर्थवर्गीय अधिकारी के रूप में परिभाषित करते हुए तदनुसार उच्चतर ग्रेड पे लागू किया जाए। वहीं, सभी सरकारी कर्मियों को समान रूप से पुरानी पेंशन योजना के तहत अंगीकृत किया जाए। अविभाजित बिहार की भांति योग्यताधारी चतुर्थवर्गीय कर्मी को तृतीय वर्ग के रिक्त पद पर 25 प्रतिशत वरीयता के आधार पर ए‌वं 25 प्रतिशत परीक्षा के आधार पर प्रोन्नत किए जाएं। झारखंड में तमाम चतुर्थवर्गीय कर्मी जिस भी विभाग में यथा-चौकीदार, तकनीकी कर्मी, मेडिकल कर्मी, सामान्य कर्मी का एक वरीयता सूची बनाकर राज्य में तमाम विभागों में तृतीय वर्ग के रिक्त पद पर वरीयता के आधार पर प्रोन्नति प्रदान किए जाएं।

पचास लाख का हो दुर्घटना बीमा

उन्होंने कहा कि सभी सरकारी कर्मियों को 50 लाख रुपये दुर्घटना बीमा से आच्छादित किया जाए। राज्य में तमाम चतुर्थवर्गीय कर्मी को ड्रेस कोड के आधार पर महंगाई के अनुरूप 5000 रुपये का भुगतान किया जाए ए‌वं धुलाई भत्ता मासिक 250 रुपये भुगतान किया जाए। इस अवसर पर संघ के महामंत्री अमरनाथ सिंह, महासंघ के जिला अध्यक्ष शंकर मिश्रा, सचिव उमाशंकर द्विवेदी, संगठन के अध्यक्ष प्रभात गुप्ता, धर्मराज यादव, चंदन कुमार सिंह, अनुज प्रसाद, कुंदन गुप्ता, दिनेश पांडे, सुजीत सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।

Edited By: Rakesh Ranjan