जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : कोरोना की तीसरी लहर के बीच झारखंड के जमशेदपुर में मंगलवार को स्वाइन फ्लू के एक साथ पांच संदिग्ध मरीज मिलने से हड़कंप मच गया। सभी का इलाज टाटा मुख्य अस्पताल (टीएमएच) में चल रहा है। जिला सर्विलांस विभाग की टीम ने सभी मरीजों का नमूना लेकर जांच के लिए एमजीएम मेडिकल कालेज भेजा है। रिपोर्ट शुक्रवार तक आने की उम्मीद है।

स्वाइन फ्लू के ये संदिग्ध मरीज धनबाद, पुरुलिया, बारीडीह, सोनारी व सिदगोड़ा के रहनेवाले हैं। शहर में जापानी इंसेफ्लाइटिस (जेई), डेंगू व चिकुनगुनिया के मरीज सामने आ चुके हैं। ऐसे में लोगों को अलर्ट होने की जरूरत है। जिला सर्विलांस पदाधिकारी डा. साहिर पाल ने कहा कि स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीजों का नमूना जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

टाटानगर रेलवे स्टेशन पर 93 मिले पाजिटिव

उधर, टाटानगर रेलवे स्टेशन पर 93 यात्री कोविड पाजिटिव मिले जिन्हें सिविल डिफेंस की मदद से एमजीएम अस्पताल भेजा गया। टाटानगर रेलवे स्टेशन पर कोविड पाजिटिव मिलने का सिलसिला जारी है। यहां सुबह और शाम, दो पालियों में दूसरे राज्यों से आए यात्रियों का कोविड टेस्ट किया जा रहा है। मंगलवार सुबह मुंबई अहमदाबाद और हावड़ा से आए 1088 यात्रियों की जांच की गई जिसमें 60 यात्री पाजिटिव पाए गए। वहीं, दूसरी पाली में 179 यात्रियों की जांच में 33 यात्री पाजिटिव मिले।

लोगों को अब भी सतर्क रहने की जरूरत

कोरोना की तीसरी लहर में कोरोना के मरीज ज्यादा मिल रहे हैं। हालांकि, सकून की बात है कि मरीज होम आइसाेलेशन में ठीक भी हो जा रहे हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत नहीं पड रही है। लेकिन डाॅक्टरों का कहना है कि इसमें खुशफहमी पालने की जरूरत नहीं। सतर्कता अब भी जरूरी है। लोगों को कोरोना गाइडलाइन का पालन इमानदारी से करने की जरूरत है। लापरवाही मुसीबत बढा सकती है।

Edited By: Rakesh Ranjan