जमशेदपुर, जासं। कृषि कानून के विरोध में जारी किसान आंदोलन के समर्थन में रविवार को सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा रोष निकाली गई। रैली साकची गुरुद्वारा से निकलकर सकची गोलचक्कर पहुंची जहां सभा में तब्दील हो गई। 

आमसभा को संबोधित करते हुए झारखंड गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के चेयरमैन सरदार सिंह ने कहा कि बॉर्डर पर जब भी युद्ध होता है तो कुर्बानी देनेवालों में 99 फीसद सिख रेजीमेंट के सदस्य होते हैं। लेकिन जब किसान अपना हक मांग रहे हैं तो इन्हें खालिस्तान समर्थक या सामान्‍य आंदोलन की बात कही जा रही है।

दिल्‍ली कूच की दी चेतावनी

उन्‍होंने कहा क‍ि किसान 38 दिनों से ठंडे मौसम में दिल्ली के बैठे हुए हैं लेकिन सरकार उनकी मांगों को पूरा नहीं कर रही है। कहा कि यदि 4 जनवरी को इस मामले में कोई हल नहीं निकला तो वे भी दिल्ली की ओर कूच करेंगे। 

रैली का नेतृत्व सेंट्रल गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सरदार भगवान सिंह कर रहे थे। रैली को आम आदमी पार्टी, झारखंड मुक्ति मोर्चा सहित कई राजनीतिक दलों ने अपना समर्थन दिया।  रैली में सरदार गुरमुख सिंह मुखे, दलबीर सिंह, तारा सिंह सहित सिख समाज के कई लोग शामिल थे।

 

Edited By: Rakesh Ranjan