जमशेदपुर, जासं। ई कामर्स वेबसाइट ओएलएक्स (आन लाइन एक्सचेंज) पर एक लाख में दस दिन का नवजात बेचने का इश्तेहार देने वाले अजीत राज तक पुलिस अब तक नहीं पहुंच पाई है। एसएसपी अनूप बिरथरे ने कहा कि पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। मामला सही पाए जाने पर ही उचित कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने विज्ञापन पोस्ट करने वाले की जानकारी ओएलएक्स से तलब की है। 

पुलिस के अनुसार, शिकायत मिलने के बाद साइबर थाने की पुलिस सक्रिय हो गई है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने ओएलएक्स को ईमेल कर इस तरह का विज्ञापन देने वाले की जानकारी मांगी है। पुलिस ने कहा कि जानकारी मिलने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कांति पटेल ने दी थी पुलिस को जानकारी

मालूम हो कि गुरुवार को ओएलएक्स में मोबाइल फोन खरीदने के लिए बारीडीह के वास्तु विहार निवासी कांति पटेल वेबसाइट सर्च कर रहे थे। इसी दरम्यान नवजात बेचे जाने का विज्ञापन देखा। उन्होंने विज्ञापन डालने वाले से संपर्क किया तो पता चला कि नवजात दस दिन का है। वह एक लाख में नवजात बेचना चाहता है। कांति पटेल ने इसकी जानकारी साइबर थाने को दी। जब दैनिक जागरण ने विज्ञापन डालने वाले से संपर्क किया तो उसने नवजात बेचने की बात स्वीकार की। यह भी कहा कि नवजात को गंभीर बीमारी है। इलाज के लिए पांच लाख रुपये चाहिए। वह चाहता है कि कोई नवजात को खरीद ले और उसकी जान बच जाए। 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस