जागरण संवाददाता, जमशेदपुर : जमशेदपुर अधिसूचित क्षेत्र समिति (अक्षेस) ने इस साल 14 हजार शौचालय का निर्माण कर एक बार फिर खुले में शौच मुक्त (ओडीएफ) होने का गौरव हासिल किया है। मानगो नगर निगम ने भी साल भर में पांच हजार शौचालय का निर्माण किया है। दोनों नगर निकायों को रांची में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सम्मानित किया। प्रदेश के ये दोनों नगर निकाय पिछले साल ओडीएफ घोषित हुए थे और तब से लगातार शौचालयों का निर्माण कर अपना ये गौरव बचाए हुए हैं।

जमशेदपुर अक्षेस के विशेष अधिकारी कृष्ण कुमार व नगर प्रबंधक शकील अनवर मेंहदी और मानगो अक्षेस के विशेष अधिकारी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता और नगर प्रबंधक शफीउर्रहमान ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के हाथों से ओडीएफ का प्रशस्तिपत्र हासिल किया। जमशेदपुर अक्षेस ने अपने इलाके में कुल 14 हजार व्यक्तिगत शौचालय का निर्माण करने के अलावा 23 सार्वजनिक शौचालय और 35 सामुदायिक शौचालय बनवाए हैं। यही नहीं, जमशेदपुर के सभी पेट्रोल पंप पर भी सार्वजनिक शौचालय हैं। जमशेदपुर अक्षेस के विशेष अधिकारी कृष्ण कुमार का दावा है कि उनके इलाके में अब कोई भी बाहर शौच करने नहीं जाता। जबकि, मानगो में पांच हजार निजी शौचालयों के अलावा दो सार्वजनिक शौचालय और 20 सामुदायिक शौचालय बनाए गए हैं। मानगो अक्षेस के विशेष अधिकारी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता का दावा है कि उनके इलाके में कोई खुले में शौच करने नहीं जाता है।

काउंसिल ने जून में की थी जांच

क्वालिटी काउंसिल आफ इंडिया ने जून में जमशेदपुर और मानगो की जांच की थी। इसके नतीजे अब आए हैं। जमशेदपुर और मानगो पिछले साल ओडीएफ घोषित हुए थे। तब से हर छह महीने में केंद्र की एजेंसी क्वालिटी काउंसिल आफ इंडिया ओडीएफ के दावे की जांच करती है। जांच में खरे उतरने के बाद ये संस्था ओडीएफ प्रमाण पत्र जारी करती है।

Posted By: Jagran