जासं, जमशेदपुर : इंडियन सुपर लीग (आइएसएल) में जमशेदपुर एफसी की डिफेंस को धार देने के लिए मेन ऑफ स्टील ने अपनी टीम में रिकी लालवामावा को शामिल किया है। लालवामावा दो साल तक टीम के साथ जुड़े रहेंगे। मिजोरम के रहने वाले लालवामावा पिछले दो साल से एटीके से जुड़े थे, जिसने गत वर्ष आइएसएल का खिताब जीता था।

जमशेदपुर एफसी से जुड़ने के बाद रिकी ने कहा, मैं जमशेदपुर एफसी से जुड़कर काफी खुश हूं। यहां ओवेन कॉयल जैसे महान कोच के साथ काम करना सौभाग्य की बात होगी। यहां के फैंस जबरदस्त हैं। जमशेदपुर एफसी के पास फुटबॉल की मजबूत आधारभूत संरचना है।

रिकी ने फुटबॉल कॅरियर की शुरुआत आइ लीग में ऐजवाल एफसी के साथ की थी। बाद में वह टीम के कप्तान भी बने। इसके अलावा वो मिजोरम प्रीमियर लीग में चानमारी एफसी व जो यूनाइटेड का भी प्रतिनिधत्व कर चुके हैं। 2015 में एक बार फिर अपने पुराने क्लब ऐजवाल एफसी में वापसी की। इसके बाद डीएसके शिवाजियंस व मोहन बागान की ओर से भी खेले। अभी तक वह प्रथम श्रेणी फुटबॉल के 57 मैच खेल चुके हैं।

लालवामावा के टीम में शामिल होने पर खुशी जताते हुए कोच ओवेन कॉयल ने कहा, उनके टीम में आने से डिफेंस मजबूत हुआ है। वह काफी अनुभवी है और टीम के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे। लक्ष्य को लेकर वह काफी सजग रहते हैं। मैदान पर वह काफी तेज हैं। शुरुआत में वह लेफ्ट बैक थे, लेकिन बाद में डिफेंडर की भूमिका निभाने लगे। ऐसे में बहुमुखी प्रतिभा के धनी इस खिलाड़ी का हम बैकलाइन में कहीं भी उपयोग कर सकते हैं। बैकलाइन में जेएफसी के पास रिकी लालवामावा के अलावा जॉयनर लौरेंको, नरेंद्र गहलोत, संदीप मंडी और जितेंद्र सिंह शामिल हैं। रिकी आगामी आइएसएल सीजन के में 16 नंबर की जर्सी में नजर आएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस