जमशेदपुर, जागरण संवाददाता : पूर्वी सिंहभूम जिले के सोनारी थाना में दहेज के लिए बहू को डायन बिसाही कहकर प्रताड़ित किए जाने के मामला सामने आया है। मामले में सोनारी थाना क्षेत्र सिद्धो-कान्हू बस्ती निवासी महिला रागिनी शर्मा ने पति अनिल शर्मा समेत ससुराल पक्ष के शत्रुघन मिस्त्री, गुड्डू मिस्त्री, रीना देवी, उर्मिला देवी, सुषमा कुमारी, ज्ञांती देवी, विकास कुमार के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने और डायन बिसाही कहकर मारपीट और प्रताड़ित किए जाने की प्राथमिकी दर्ज कराई है जिसकी जांच सोनारी थाना की पुलिस कर रही है। सभी आरोपित बिहार के पटना के बिहटा के निवासी है। महिला ने पुलिस को शिकायत में बताया कि उसकी शादी 2004 में हुई थी।

जमशेदपुर के सिदगोड़ा और एमजीएम थाना में दहेज प्रताड़ना की प्राथमिकी

पूर्वी सिंहभूम जिले के सिदगोड़ा थाना में लक्ष्मी देवी ने पति विजय ओझा के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित किए जाने और मारपीट व गाली-गलौज किए जाने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। आरोपित बागबेड़ा कालोनी रोड नंबर दो के निवासी है। 2006 से उसे प्रताड़ित किया जा रहा है। आरोपित की तलाश पुलिस को है। महिला ने बताया वह सिदगोड़ा की रहने वाली है। उसके साथ पति मारपीट करते है। दूसरी ओर एमजीएम थाना में सुकना बस्ती निवासी सबीता गोराई ने मधुसूदन गोराई, बाबूलाल गोराई, चंचल गोराई के खिलाफ दहेज के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किए जाने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।

मानगो के एमजीएम में मारपीट और छिनतई

मानगो के एमजीएम थाना में भिलाई पहाड़ी घुटियाडीह निवासी अमित सिंह ने वासुदेव सबर, सूरज सबर, अजय सबर के खिलाफ मारपीट और छिनतई किए जाने के आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है। यह मामला अदालत में दर्ज शिकायतवाद के आधार पर दर्ज की गई है। आरोपित एमजीएम थाना के खड़ियाडीह के निवासी है।

Edited By: Rakesh Ranjan