जमशेदपुर, जासं। झारखंड में भी 10 वीं एवं 12 वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द कर दी गइ है। यह कयास लगाए ही जा रहे थे कि परीक्षा के बारे में हेमंत सरकार जल्द फैसला लेगी। आखिरकार सरकार ने जैक बोर्ड की दोनों परीक्षाएं रद्द करने का फैसला गुरुवार देर शाम ले लिया। 

अंतत: जैक बोर्ड की दसवीं एवं 12वीं की परीक्षा रद कर दी गई। सरकार ने इसकी सहमति दे दी। हजारों छात्र इस बारे में निर्णय का इंतजार कर रहे थे। सरकार के इस निर्णय से जैक बोर्ड के छात्रों ने राहत की सांस ली है। झारखंड के पूर्वी सिंहभूम के शिक्षक भी इससे संतुष्ट दिखाई पड़ रहे हैं। अंक किस आधार पर मिलेंगे यह स्पष्ट नहीं है, लेकिन फार्मूला यह तय किया गया है कि कक्षा दसवीं के छात्रों को वर्ष 2019 में ली गइ आठवीं, नौंवी की परीक्षा के आधार पर दसवीं में अंक प्रदान किया जाएगा। वहीं 12वीं में वर्ष 2019 में दसवीं और 2020 में 11वीं के अंक के आधार पर अंक मिलेंगे। इसके अलावा जैक के पास कोई विकल्प दिखाई नहीं पड़ता। कक्षा आठवीं, नौंवी व 11वींं की परीक्षाएं जैक बोर्ड ने ली थी।

छात्राएं बोली

परीक्षा परिणाम को लेकर हम बहुत चिंतित थे। सभी बोर्ड की परीक्षाएं रद हो रही थी, हमारा नहीं हो रहा था। हमारे जिले में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा। ऐसे में परीक्षाएं आयोजित करना उचित नहीं था। सरकार का यह फैसला उचित है।

- हेमा घोष, जमशेदपुर

अंक जैसे भी मिले, सभी के लिए एक समान मानक तय होंगे। पिछले दो वर्ष से जैक द्वारा ली गई परीक्षाओं के आधार पर यह अंक दिया जा सकता है। परीक्षा रद होना अच्छी बात है। मानसिक तनाव खत्म हुआ।

-हर्षिता दीप, जमशेदपुर।

देर से ही सही जैक ने सरकार की सहमति से अच्छा फैसला लिया है। इसकी उम्मीद थी। अब अंक देने का प्रारुप क्या तय होगा यह देखना होगा। अन्य बोर्डों की तरह सभी के लिए नियम एक समान होंगे।

- रंजीता महतो, जमशेदपुर।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप