जागरण संवाददाता, जमशेदपुर। झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने पिछले दिनों 12वीं का रिजल्ट जारी किया था। इसमें को-ऑपरेटिव कॉलेज, एबीएम कॉलेज सहित करीम सिटी कॉलेज के कई छात्र फेल हो गए हैं। इससे नाराज छात्रों ने सोमवार सुबह विरोध प्रदर्शन करते मानगो गोलचक्कर पर जैक बोर्ड के चेयरमैन की शव यात्रा निकाली।

फेल हुए छात्रों का आरोप है कि उनका अंक इतना भी कम नहीं था कि उन्हें फेल कर दिया जाए। जब बोर्ड दो-तीन वर्षों की परीक्षाओं के आधार पर औसत अंक ही दे रहा है तो उनके साथ ये नाइंसाफी क्यों। उन्हें बेवजह क्यों फेल किया जा रहा है। तीनों कॉलेजों से लगभग 50 बच्चे हैं जिन्हें फेल किया गया है इसलिए सभी छात्रों की मांग है कि उनके पूर्व के अंकों की फिर से समीक्षा करते हुए फिर से उनके अंक जारी किए जाए।

छात्रों ने जैक बोर्ड को भेजा ज्ञापन

फेल हुए छात्रों ने करीम सिटी कॉलेज के प्रिंसिपल के माध्यम से झारखंड अधिविध परिषद, रांची के नाम एक ज्ञापन भेजा है। इसमें छात्रों का कहना है कि वे 12वीं के छात्र हैं और वर्ष 2021 में जो परिणाम जारी किए गए हैं उसमें फिजिक्स और कंम्प्यूटर साइंस में औसत के अनुरुप कम अंक दिए गए हैं। इसलिए सभी छात्रों का अनुरोध है कि सभी छात्रों के रिजल्ट को सुधार जाए। छात्रों का कहना है कि जिस तरह से उन्हें अंक दिया गया है उससे यही प्रतीत होता है कि उन्होंने परीक्षा ही नहीं दी है। जबकि 11वीं सभी छात्रों के अच्छे अंक आए थे। छात्रों ने इस मामले में फिर से जांच कर उनके अंकों में सुधार की मांग की है।

सरयू राय से भी मिले थे छात्र

रविवार को फेल हुए छात्र जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय से भी उनके कार्यालय में मुलाकात की थी। इस दौरान सरयू राय ने भी जैक बोर्ड के सदस्य से फोन पर बात कर पूरे मामले में पहल करने का आग्रह किया था।

Edited By: Rakesh Ranjan